मिलान कुंदेरा (जन्म 1 अप्रैल 1929) चेकोस्लोवाकिया के ब्रनो में जन्मे चर्चित उपन्यासकार हैं। उन्हें देशनिकाला मिलने के बाद 1975 में फ्रांस चले गए तथा 1981 में वहाँ के नागरिक बन गए। कुंदेरा ने चेक तथा फ्रांसीसी दोनों भाषाओं में लिखा है। उन्होंने स्वयं अपनी सभी पुस्तकों को फ्रांसीसी में रूपांतरित कर प्रकाशित कराया। इसलिए उनकी फ्रांसीसी की पुस्तकें भी अनुवाद के बजाय मूल रचना के रूप में ही स्वीकृत हैं। चेकोस्लोवाकिया की कम्युनिस्ट सरकार ने उनकी पुस्तकों पर प्रतिबंध लगा दिया था जो 1989 की बेलवित क्रांती के पश्चात कम्युनिस्ट सरकार के पतन होने तक जारी रहा।

जीवन वृतसंपादित करें

रचनाएँसंपादित करें

लेखन शैली एवं दर्शनसंपादित करें

विवादसंपादित करें

पुरस्कारसंपादित करें

उन्हें 1985 में जेरूसलम पुरस्कार मिला।

ग्रंथानुक्रमणिकासंपादित करें

संदर्भ श्रोतसंपादित करें

इन्हें भी देखेंसंपादित करें