मुंबई अग्निशमन दल ग्रेटर मुंबई शहर में अग्निशमन के लिए उत्तरदायी है। इनके अलावा किसी इमारत के ढहने, बाढ़ राहत, गैस रिसाव, तेल बिखराव, सड़क और रेल दुर्घटना, पशु-पक्षी बचाव, पेड़ गिरना व अन्य संबंधित प्राकृतिक आपदाओं से बचाव कार्य भी देखते हैं। मुंबई में अग्निशमन सप्ताह का आयोजन १४ अप्रैल से २१ अप्रैल प्रतिवर्ष किया जाता है। यह १९४४ में हुए बंबई धमाकों में राहत कार्य के समय मारे गये ६६ अग्नि-शामक कार्यकर्ताओं की याद में मनाया जाता है।[1] २६ नवंबर, २००८ को हुए आतंकवादी हमले में इनकी भूमिका भी प्रशंस्नीय रही थी। इस कार्य के लिए इन्हें वीरता पुरस्कार भी मिला था।

मुंबई अग्निशमन दल
Motto: "शौर्यम्, आत्मसँयमम्, त्यागः"
स्थापना १८८७
क्षमता २०७०
स्टेशन ३३

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "महाराष्ट्र अग्नि शमन दल- अग्नि शमन सप्ताह". मूल से 1 अप्रैल 2011 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 31 अगस्त 2009.

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

बंबई धमाके, १९४४