मुख्य मेनू खोलें

मुख्तार अंसारी; एक भारतीय माफिया-डॉन और उत्तर प्रदेश के राजनेता हैं। अंसारी मऊ निर्वाचन क्षेत्र से विधान सभा के सदस्य के रूप में रिकॉर्ड पांच बार विधायक चुने गए है। वह अन्य अपराधों सहित कृष्णमंद राय हत्या के मामले में मुख्य आरोपी थे, लेकिन अंसारी को दोषी नहीं ठहराया गया है। अंसारी ने बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के एक उम्मीदवार के रूप में अपना पहला विधानसभा चुनाव जीता, और अगले दो जिसमें एक स्वतंत्र के रूप में 2007 में, अंसारी बसपा में शामिल हो गए और 2009 के लोकसभा चुनाव में चुनाव लड़ा लेकिन असफलता मिली। जिसके बाद वसपा ने 2010 में उन्हें आपराधिक गतिविधियों के कारण पार्टी से निष्कासित कर दिया था बाद में उन्होंने अपने भाइयों के साथ अपनी पार्टी कौमी एकता दल का गठन किया। वह उत्तर प्रदेश विधायी विधानसभा चुनाव 2012 में माऊ सीट से विधायक चुने गए। 2017 में बसपा के साथ कौमी एकता दल को विलय कर दिया, और बसपा उम्मीदवार के रूप में विधानसभा चुनाव में पांचवीं वार विधायक के रूप में जीते।

मुख्तार अंसारी
Mukhtar Ansari

पद बहाल
1996 - 2002, 2002 - 2007,2007-2012, 2012 - 2017, 2017 – वर्तमान
चुनाव-क्षेत्र मउ

नागरिकता भारतीय
राजनीतिक दल वहुजन समाजवादी पार्टी (1996, 2007-2010, 2017 वर्तमान)
अन्य राजनीतिक
संबद्धताऐं
कौमी एकता दल
संबंध हामिद अंसारी, सिगवातुल्लाह अंसारी और अफजल अंसारी (भाई)
बच्चे अब्बास अंसारी
उमर अंसारी

चुनावी प्रदर्शनसंपादित करें

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में जीत[1][2]
वर्ष विधानसभा चुनाव क्षेत्र वोट % दल
2017 मऊ 24.19% वहुजन समाजवादी पार्टी
2012 मउ 31.24% कौमी एकता दल
2007 मउ 46.78% स्वतंत्र
2002 मउ 46.06% स्वतंत्र
1996 मउ 45.85% वहुजन समाजवादी पार्टी

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "Mau Assembly Constituency Details". Party Analyst. अभिगमन तिथि 2014-03-19.
  2. "204 - Mau Assembly Constituency". Election Commission of India. अभिगमन तिथि 2014-03-19.

[1]

  1. "Rivalry between two mafia dons-turned-politicians turns Uttar Pradesh into a battlefield". अभिगमन तिथि 2017-01-20.