मूलचन्द हिन्दी तथा पंजाबी फ़िल्मों के एक चरित्र अभीनेता थे जिन्होंने १९५१ से लेकर १९८० के दशक के अंत तक अपनी मृत्यु तक लगभग २५० से भी ज़्यादा फ़िल्मों में काम किया था। जिन फिल्मों में मूलचन्द ने काम किया था वह दारा सिंह की पहलवानों वाली फिल्मों से लेकर् गुरु दत्त की समानांतर सिनेमा तक थीं। वह अपने बड़े पेट के लिए जाने जाते थे।
मूलचंद का पहला ज्ञात फ़िल्मों में अभिनय १९५१ का है। उसी वर्ष वह एक अन्य फ़िल्म में दिखाई दिये। इन दोनों फिल्मों के निर्देशक गुरु दत्त और राज कपूर ने आगे चलकर भी उन्हें काम दिया और मूलचंद ने गुरु दत्त की ५ और राज कपूर की ७ और फिल्मों में काम किया। इसके अलावा उन्होंने देव आनंद, बी.आर. चोपड़ा, दारा सिंह और आई॰ एस॰ जौहर जैसे निर्माताओं की फ़िल्मों में भी काम किया।

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें