मोगाओ गुफाएँ (Mogao Caves), जिन्हें हज़ार बुद्धों की गुफाएँ (Caves of the Thousand Buddhas) भी कहते हैं, पश्चिमी चीन के गान्सू प्रांत के दूनहुआंग शहर से २५ किमी दक्षिणपूर्व में स्थित एक पुरातत्व स्थल है। रेशम मार्ग पर स्थित इस नख़्लिस्तान (ओएसिस) क्षेत्र में ४९२ मंदिरों का एक मंडल है। इनमें १००० वर्षों के काल में गुफ़ाएँ खोदी गई। सबसे पहली गुफाएँ ३६६ ईसापूर्व में बौद्ध चिंतन और पूजा के लिए स्थान बनाने के लिए बनाई गई थी। सन् १९०० में एक गुफा में बहुत से दस्तावेज़ों का एक भण्डार मिला जो ११वीं शताब्दी में चुनवा के बंद कर दिया गया था। इसे 'पुस्तकालय गुफा' कहा जाने लगा और इसकी सामग्री दुनिया भर में बंट गई। मोगाओ की बहुत सी गुफाएँ पर्यटकों के लिए खुली हैं और यहाँ हर वर्ष बहुत से सैलानी घूमने आते हैं।[1]

युनेस्को विश्व धरोहर स्थल
मोगाओ गुफाएँ
विश्व धरोहर सूची में अंकित नाम
मोगाओ गुफाओं का बाहर से दृश्य
देश चीन
प्रकार सांस्कृतिक
मानदंड i, ii, iii, iv, v, vi
सन्दर्भ 440
युनेस्को क्षेत्र एशिया-प्रशांत
शिलालेखित इतिहास
शिलालेख 1987 (11वाँ सत्र)
लुआ त्रुटि Module:Location_map में पंक्ति 390 पर: Minutes can only be provided with DMS degrees for longitude।

कुछ दृश्यसंपादित करें

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Cave Temples of Mogao: Art and History on the Silk Road, Roderick Whitfield, Susan Whitfield, Neville Agnew, Getty Publications, 2000, ISBN 978-0-89236-585-2