मुख्य मेनू खोलें

यथार्थ का अर्थ सर्वमान्य है। व्यवस्थित रूप का ज्ञान यथार्थ ज्ञान कहलाता है जिसकी होने की संभावना सर्वाधिक हो,वही यथार्थ है।