मुख्य मेनू खोलें
यवतमाल ज़िला
Yavatmal district
मानचित्र जिसमें यवतमाल ज़िला Yavatmal district हाइलाइटेड है
सूचना
राजधानी : यवतमाल
क्षेत्रफल : 13,584 किमी²
जनसंख्या(2011):
 • घनत्व :
20,77,000
 150/किमी²
उपविभागों के नाम: तालुक
उपविभागों की संख्या: 16
मुख्य भाषा(एँ): मराठी


यवतमाल ज़िला भारत के महाराष्ट्र राज्य का एक ज़िला है। ज़िले का मुख्यालय यवतमाल है।[1][2]

विवरणसंपादित करें

जिला महाराष्ट्र के विदर्भ क्षेत्र में स्थित है और अमरावती मंडल के अंतर्गत आता है। यवतमाल शहर जिले का मुख्यालय है। यवतमाल जिले मे सबसे ज्यादा कपास का उत्पादन होता है इसलीये ये महाराष्ट्र मे कपास उत्पादन का केंद्र बन चुका हे| इस जिले ने महाराष्ट्र को दो दो मुख्यमंत्री दिये है।

इस जिले ने दो राज्यपाल दिए है। यवतमाल जिले में कोयला,चुना,डोलोमाइट,समान खदाने है। आदिवासी बहुल जिला है। कपास का संशोधन जिले के कलम्ब तहसील मुख्यालय पर कई वर्षों पूर्व हुआ था। वर्तमान में मोदी केंद्रीय सरकार ने अधिकृत रूपसे 2015 में वर्धा -यवतमाल-नांदेड़ ब्रॉड गेज रेल लाइन को अनुमति प्रदान की। भूमि सम्पादन कार्य तेज गति से जारी है। कोयला बेल्ट वणी क्षेत्र में ब्रॉड गेज रेल लाइन पर आवा गमन जारी है। विद्युतीकरण करना शेष है। दो अभयारण है वंहा पर्यटन की संभावना रहनेसे विकसित किया जाना जरूरी है। यहां हवाई अड्डा है वहा विकास की अपार सम्भावना बनी है। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री श्री हंसराज अहीर इस क्षेत्र से रहनेसे विकास की आस जनता को लगी है। विदर्भ राज्य की मांग जवाहरलाल नेहरू प्रधानमंत्री कार्य काल से की जा रही है। सभी आयोग व कमिटी की रिपोर्ट में पुष्टि की है। विदर्भवादी नेता जाम्बुवन्त राव धोटे का हाल ही निधन हुआ।कपास,तेंदू पत्ता,अरहर,सोयाबीन,गन्ना ,कई फूल,फलों की फसलें यह कि प्रमुख है। सिंचाई सुविधा लगातार बढ़ रही है। डेहनी नामक सिंचाई योजना एशिया की प्रथम योजना है।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "RBS Visitors Guide India: Maharashtra Travel Guide," Ashutosh Goyal, Data and Expo India Pvt. Ltd., 2015, ISBN 9789380844831
  2. "Mystical, Magical Maharashtra," Milind Gunaji, Popular Prakashan, 2010, ISBN 9788179914458