युग्मक जनन

जैविक प्रक्रिया

युग्मक जनन (Gametogenesis) एक जैविक प्रक्रिया को कहते हैं जिसमें जनदों (वृषणों एवं अंडाशयों) में जननिक एपिथीलियम की कोशिकाओं का निर्माण होता है।[1]

प्रकारसंपादित करें

समयुग्मकसंपादित करें

आमतौर पर नर और मादा युग्मक में अंतर होता है, लेकिन कुछ शैवालों में देखने को मिला है कि उनके नर और मादा युग्मक एक समान होते हैं। इनकी एक रूपता के कारण हम इनके युग्मकों को नर और मादा के रूप में श्रेणीबद्ध नहीं कर सकते हैं। इस कारण ऐसे युग्मकों को समयुग्मक या समयुग्मकी कहा जाता है। क्लैडोफोरा नामक एक शैवाल इसका उदाहरण है, जिसमें नर और मादा युग्मक एक समान पाये जाते हैं।[2]

विषम युग्मकसंपादित करें

अधिकतर जीवों में नर और मादा युग्मक भिन्न पाये जाते हैं। इनमें नर युग्मकों को पुमणु या शुक्राणु कहते हैं और मादा युग्मकों को अंड या डिंब कहा जाता है। इस तरह अलग अलग प्रकार के युग्मक होने के कारण इस तरह के युग्मकों को विषम युग्मक कहा जाता है।[2]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. डॉ॰ ओ॰ पी॰, सक्सेना; मेघा, बंसल (2016). Biology For Class XII. SBPD Publications. पृ॰ 109. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9382883037. अभिगमन तिथि 15 मई 2020.
  2. जीवों में जनन (PDF). एनसीईआरटी. पृ॰ 10-11.

बाहरी कड़ियांसंपादित करें