16 जून 1976 को दक्षिण अफ्रिका के टोएटा में दस हजार काले स्कूली छात्रों द्वारा अपनी खराब गुणवत्ता वाली शिक्षा के खिलाफ तथा अपनी भाषा में बात करने के अधिकार के लिए किए गए प्रदर्शन की याद में यह दिवस मनाया जाता है। लगभग आधे मील लंबे इस प्रदर्शन में सैंकड़ों छात्रों को गोली मार दी गई तथा हजारों व्यक्ति घायल हो गए।

सहायक एवं संदर्भ श्रोतसंपादित करें