मुख्य मेनू खोलें

रक्षा बंधन (1984 फ़िल्म)

हिन्दी भाषा में प्रदर्शित चलवित्र

शीर्षकसंपादित करें

संक्षेपसंपादित करें

चरित्रसंपादित करें

मुख्य कलाकारसंपादित करें

दलसंपादित करें

संगीतसंपादित करें

रोचक तथ्यसंपादित करें

परिणामसंपादित करें

बौक्स ऑफिससंपादित करें

समीक्षाएँसंपादित करें

नामांकन और पुरस्कारसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें

मैने, पढ़ा, शत्रुओं को भी, जब-जब राखी भिजवाई। रक्षा करने दौड़ पड़े थे, राखी-बन्ध वे भाई।।