• 1.   गोविंदाराज चतुर्थ (ल. 1192 ईस्वी); मुस्लिम अस्मिता स्वीकार करने के कारण हरिराज द्वारा निर्वासित; रणस्तंभपुरा के चाहमान शाखा की स्थापना की।

 • बाल्हणदेव चौहान के दो पुत्र
 • बाग्भट्ट चौहान का पुत्र जैत्रसिंह चौहान  • प्रहलादनदेव चौहान एवं प्रहलादनदेव का पुत्र  • वीरनारायण चौहान

 • जैत्रसिंह चौहान का पुत्र

 • हम्मीरदेव चौहान का पुत्र
 • रामदेव का पुत्र
 • चाड़गदेव का पुत्र
 • चाचिगदेव का पुत्र
 • सोमदेव का पुत्र
 • पाल्हणदेव का पुत्र
 • जीतकर्ण का पुत्र
 • कपूरराव का पुत्र
 • वीरधवल का पुत्र
 • शिवराज का पुत्र
 • राघवदेव का पुत्र
 • त्र्यम्बकभूप का पुत्र
 • गड़ंगराज का पुत्र
 • जयसिंह का पुत्र
 • रायसिंह के दो पुत्र- 1. पृथ्वी सिंह (छोटा उदयपुर वंशज) 2. डड्रगरसिंह (देवगढ़ बारिया वंशज)