राजेश पायलट

भारतीय राजनीतिज्ञ

राजेश पायलट भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस से सबंध एक राजनेता है।उसका नाम था राजेश्वर प्रसाद बिधूरी जो बाद में राजेश पायलट के नाम से मशहूर हुआ। 1974 में उनकी रमा पायलट से शादी हुई।वे पूर्व केन्द्रीय मंत्री तथा राजस्थान के दौसा लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र से कई बार सांसद रहे है।राजेश पायलटजी ने 1971 के भारत-पाक युद्ध में भारतीय वायुसेना कि तरफ महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। परंतु जन सेवा की भावना से प्रेरित होकर वायुसेना से इस्तीफा देकर राजनीति में प्रवेश किया था। 1980 में भरतपुर से सांसद चुने गये और 1984,1991,1996,1998 एवं 1999 दौसा से सांसद चुने गये। 20 साल तक सांसद रहे। जब 1984 में राजीव गाँधी प्रधानमंत्री बने, तो उन्होंने उन्हें भूतल राज्यमंत्री बनाया। उत्तरपूर्व और कश्मीर दोनों राजेश पायलट के बहुत प्रिय विषय थे। कश्मीर में सामान्य स्थिति लाने के लिए उन्होंने अपनी तरफ़ से काफ़ी कोशिश की., हाँलाकि वहाँ उन पर कई हमले भी हुए। राजेश पायलट को भारतीय राजनीति में अभी बहुत कुछ करना था लेकिन मात्र 55 वर्ष की आयु में एक सड़क दुर्घटना में उनका असामयिक निधन हो गया. उस समय वो गाड़ी को खुद ड्राइव कर रहे थे.[1][2]

राजेश पायलट
राजेश पायलट


कार्यकाल
1980 - 2000
निर्वाचन क्षेत्र दौसा

जन्म 10 फ़रवरी 1945
वैदपुरा
मृत्यु 11 जून 2000
राजनैतिक पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
जीवन संगी रमा पायलट
संतान सचिन पायलट
धर्म हिन्दू धर्म

सन्दर्भसंपादित करें