मुख्य मेनू खोलें

रामकृपाल यादव भारत के एक राजनेता हैं। सम्प्रति वे भारतीय जनता पार्टी के एक बड़े नेता हैं और पहले राष्ट्रीय जनता दल में थे।[1] वे सोलहवीं लोकसभा में भाजपा प्रत्याशी के रूप में पाटलिपुत्र लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र सांसद निर्वाचित हुए।[2]

रामकृपाल यादव

सांसद (राज्यसभा सदस्य)

जन्म 12 अक्टूबर 1957 (1957-10-12) (आयु 62)
पटना, बिहार
राजनीतिक दल भारतीय जनता पार्टी
जीवन संगी किरण यादव
बच्चे 2 पुत्र एवं 1 पुत्री
निवास पटना
धर्म हिन्दू

प्रारम्भिक जीवन और पृष्ठभूमिसंपादित करें

रामकृपाल यादव का जन्म 12 अक्तूबर 1957 में पटना जिला के साबर-चक (पाटलिपुत्र लोकसभा से संबंध) नामक एक छोटे से गांव में हुआ। रामकृपाल यादव को बचपन में ही अपनी जिम्मेदारियों का अहसास हो गया। 10वीं की परीक्षा 1974 में माध्यमिक विद्यालय पटना से तथा 12वीं की परीक्षा 1976 में उच्च विद्यालय पटना से करने के बाद 1972 में बीए ऑनर्स (इतिहास) से उत्तीर्ण किया।

श्रीमती किरण देवी के साथ इनका विवाह हुआ। रामकृपाल यादव के दो पुत्र (अभिषेक और अभिमन्यु) एवं पुत्री (आरती) हैं।

युवा अवस्था से ही छात्र आन्दोलनों में सक्रिय रहे रामकृपाल यादव ने वर्ष 1977 में अपनी राजनीतिक जीवन की शुरुआत की। 1977 छात्र संघ के अध्यक्ष एवं विश्वविद्यालय के सिनेटर चुने गये। वार्ड संख्या-10 पटना से पार्षद और पटना के उप-महापौर बने। रामकृपाल पहली बार 1992 में बिहार विधान परिषद के सदस्य बने। 1993 में पहली बार लोकसभा के सदस्य बने। वर्ष 2010 में राज्य सभा के लिए सदस्य बने। रामकृपाल यादव एक जमाने में लालू प्रसाद यादव के काफी करीबी रहे। वे राष्ट्रीय जनता दल के बड़े नेता थे।

2014 में भाजपा प्रत्याशी के रुप में पाटलिपुत्र लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से १६वीं लोकसभा के सदस्य चुने गये और भारत सरकार में पेय जल एवं स्वच्छता राज्य मंत्री बने।

धारण किए हुए पदसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "आरजेडी का साथ छोड़ रामकृपाल यादव ने थामा बीजेपी का हाथ, नरेंद्र मोदी की जमकर तारीफ की". १२ मार्च २०१४.
  2. "पहले दस राउंड में मीसा आगे 11 वें राउंड से रामकृपाल जीते". प्रभात खबर. १७ मई २०१४. अभिगमन तिथि १७ मई २०१४.