मुख्य मेनू खोलें

राव जोधा के पुत्र राव बीक (1465-1504 ई .) ने एक अलग राज्य में जाकर राठौड़ वंश को स्थापित किया, जो 1488 ई. मेें बीकानेर कहा गया, राव बीका पर करणी माता की अधिक कृृपा व करणी माता के आशीर्वाद से ही राव बीका को बीकानेर राज्य की प्राप्ति हुई, बीकानेर शहर रातीघाटी पर बसा हुआ है, जिसके कारण इसे राती शहर कहतेे हैं, राव बीका ने देशनोंक में करणी माता की मूूर्ति को प्रतिष्ठापित किया | इनके पुत्र राव लूणकरण (1504-1526 ई. ) को राजपूताने के इतिहास मेंं अपनी उदारता एवं दानशीलता के लिए याद किया जाता है |