राष्ट्रमंडल सचिवालय, राष्ट्रों के राष्ट्रमंडल की मुख्य अंतर-सरकारी एजेंसी और केंद्रीय कार्यकारी संस्थान है। यह राष्ट्रमंडल के सदस्य देशों के बीच सहयोग की सुविधा के लिए जिम्मेदार है; राष्ट्रमंडल शासनाध्यक्षों की बैठक सहित अन्य बैठकों का आयोजन; नीति विकास पर सहायता और सलाह देना; तथा राष्ट्रमंडल के निर्णयों और नीतियों को लागू करने में सदस्य देशों को सहायता प्रदान करना इसकी ज़िम्मेदारियाँ हैं।[1]

राष्ट्रमंडल सचिवालय
Marlborough House.jpg
लंदन का मर्लबरो हाउस, राष्ट्रमंडल सचिवालय का मुख्य कार्यालय
स्थापना 1965; 55 वर्ष पहले (1965)
प्रकार अंतर-सरकारी एजेंसी
उद्देश्य राष्ट्रों के राष्ट्रमंडल का केंद्रीय कार्यकारी संस्थान
मुख्यालय मर्लबरो हाउस
लन्दन
स्थान
पेट्रीसिया स्कॉटलैंड (2016–वर्त्तमान)
पैतृक संगठन
राष्ट्रमंडल के प्रमुख
राष्ट्रमंडल शासनाध्यक्षों की बैठक
जालस्थल www.thecommonwealth.org

राष्ट्रमंडल सचिवालय को संयुक्त राष्ट्र महासभा में पर्यवेक्षक का दर्जा प्राप्त है। यह संस्था, राष्ट्रमण्डल महासचिव के नेतृत्व में कार्य करती है, जिन्हें सदस्य देशों द्वारा चुना जाता है।

इतिहास

इस सचिवालय की स्थापना राष्ट्रमंडल के सदस्यदेशों द्वारा 1965 में राष्ट्रकुल के एक बड़े पुनर्गठन के अंतर्गत किया गया था। इस भूमिका में इसने यूनाइटेड किंगडम की सरकार के राष्ट्रमंडल संबंध कार्यालय के कई कार्यों को संभाल लिया। उसी समय, यूनाइटेड किंगडम, राष्ट्रमंडल सचिवालय की बहन संगठनों, राष्ट्रमंडल फाउंडेशन (गैर-सरकारी संबंधों को बढ़ावा देने के लिए) तथा के राष्ट्रमंडल परिवार (नागरिक समाजों संबंधों को बढ़ावा देने के लिए) की स्थापना की वकालत करने में सफल रहा। सदस्यों द्वारा इसी प्रकार के अन्य केंद्रीय निकाय स्थापित कर पाने के अन्य प्रयास, जैसे कि चिकित्सा सम्मेलन (न्यूजीलैंड द्वारा प्रस्तावित), एक विकास बैंक (जमैका द्वारा) या उपग्रह संचार (कनाडा द्वारा) विफल रहा।[2]

आर्नल्ड स्मिथ इसके पहले महासचिव बने। तथा वर्त्तमान महासचिव है पैट्रिशिया स्कॉटलैंड, जिन्होंने कमलेश शर्मा के बाद यह पद सम्भाला

संरचना

इन्हें भी देखें: राष्ट्रमण्डल महासचिव

राष्ट्रमंडल सचिवालय, सदस्य देशों द्वारा प्रदान किये गए धन से कार्य करता है। राष्ट्रमंडल सचिवालय के प्रमुख कार्यकारी अधिकारी होते हैं इसके राष्ट्रमंडल के महासचिव, जो राष्ट्रमंडकल के तमाम कार्यों और सचिवालय की ज़िम्मेदारियों को निभाने के लिए ज़िम्मेरदार हैं। महासचिव को राश्रमण्डल शासनप्रमुखों द्वारा चुना जाता है, तथा अधिकतम दो चार-वर्षीय कार्यकालों के लिए नियुक्त किया जाता है। महासचिव को तीन उप सचिवों द्वारा सहायता प्रदान की जाती है: एक आर्थिक मामलों के लिए जिम्मेदार, एक राजनीतिक मामलों के लिए, और एक कॉर्पोरेट मामलों के लिए। महासचिव अपने स्वयं के विवेक पर कनिष्ठ कर्मचारियों को नियुक्त कर सकते हैं, बशर्ते सचिवालय इसे वहन कर सकता है।[3]

कार्यालय

सचिवालय का मुख्य कार्यालय लंदन, यूनाइटेड किंगडम के मार्लबोरो हाउस में स्थित है, जो ब्रिटिश संप्रभु का पूर्व शाही निवास था, जिसे राष्ट्रमंडल के प्रमुख के नाते, महारानी एलिजाबेथ द्वितीय द्वारा सचिवालय को दिया गया था। यह वेस्टमिंस्टर शहर में सेंट जेम्स पैलेस के निकट स्थित है, जो ब्रिटिश शाही दरबार का आसान है।

इन्हें भी देखें

सन्दर्भ

  1. Cook and Paxton, Commonwealth Political Facts (1978) part 3.
  2. McIntyre, W. David (October 1998). "Canada and the creation of the Commonwealth Secretariat". International Journal. 53 (4): 753–777. JSTOR 40203725. डीओआइ:10.2307/40203725.
  3. Doxey, Margaret (January 1979). "The Commonwealth Secretary-General: Limits of Leadership". International Affairs. 55 (1): 67–83. डीओआइ:10.2307/2617133.

बाहरी कड़ियाँ