राष्ट्रीयकरण

किसी सरकार (राष्ट्रीय या प्रादेशिक) द्वारा किसी निजी स्वामित्व वाली वस्तु को सार्वजनिक वस्तु में बदलना राष्ट्रीयकरण (नेशनलाइजेशन) कहलाता है। उदाहरण के लिए किसी निजी बैंक को राष्ट्रीयकृत करके सार्वजनिक बनाया जा सकता है और भारत में १९६९ में ऐसा ही हुआ था।[1] राष्ट्रीयकरण के अन्तर्गत यह भी आता है जिसमें सरकार के किसी निचले स्तर की सम्पत्ति को ऊपरी स्तर पर ले जाया जाय, जैसे नगरपालिका की किसी सम्पत्ति को प्रदेश की सम्पत्ति घोषित करना'

राष्ट्रीयकरण की विपरीत प्रक्रिया का नाम 'निजीकरण' (प्राइवेटाजेशन) है।

सन्दर्भEdit

  1. "Definition of NATIONALIZATION". www.merriam-webster.com.

इन्हें भी देखेंEdit