राष्ट्रीय आपदा प्रबन्धन प्राधिकरण

राष्ट्रीय आपदा प्रबन्धन प्राधिकरण (राप्रा), भारत सरकार के गृह मंत्रालय की एक एजेन्सी है जिसका काम प्राकृतिक आपदाओं या मानव-निर्मित आपदाओं के आने पर किये जाने वाले कार्यों में समन्वय स्थापित करना तथा उनसे लड़ने के लिये क्षमता-निर्माण करना है। राप्रा के अध्यक्ष प्रधानमन्त्री तथा अधिकतम 9 सदस्य होते है। सदस्य अध्यक्ष द्वारा नामित होते है। इन्ही में से एक को उपाध्यक्ष नामित किया जाता है। उपाध्यक्ष का दर्जा कैबिनेट मन्त्री के समकक्ष होता है जबकि अन्य सदस्यों का राज्य मन्त्री के समकक्ष।

राष्ट्रीय आपदा प्रबन्धन प्राधिकरण
[[file:चित्र:National Disaster Management Authority Logo.png|120 px]]
एजेंसी अवलोकन
गठन 2005
अधिकारक्षेत्रा भारत सरकार
मुख्यालय NDMA भवन, सफ़दरजंग एन्क्लेव, नई दिल्ली
वार्षिक बजट 3.56 बिलियन (US$51.98 मिलियन) (Planned, 2013-14)[1]
एजेंसी कार्यपालक नरेंद्र मोदी, पन्त प्रधान
मातृ विभाग गृह मन्त्रालय
वेबसाइट
www.ndma.gov.in

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें

राष्ट्रीय आपदा प्रबन्धन प्राधिकरण का जालघर

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "Plan Budget". National Disaster Management Authority. मूल से 28 अगस्त 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2014-10-28.