रास (Headland) प्रायद्वीप का एक प्रकार है। रास सागर मे से उदग्र या उभरा हुआ भूमि का एक ऊँचा भाग होता है जो, तीन ओर से पानी से घिरा होता है। हिन्दी में रास शब्द का प्रयोग अब कम किया जाता है और इसके स्थान पर अंतरीप शब्द ही इसके पर्याय के रूप में प्रयुक्त होता है, हालांकि अंतरीप की स्वयं की परिभाषा के अनुसार उसके तीन ओर पानी का होना अनिवार्य नहीं है, पर रास के तीन किनारों पर सदैव जल उपस्थित रहता है।[1]

बीची रास की खड़ी चट्टानें, इंग्लैंड

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Whittow, John (1984). Dictionary of Physical Geography. London: Penguin, 1984, pp. 80, 246. ISBN 0-14-051094-X.