रुद्रपट्टण शामाशास्त्री (1868–1944) संस्कृत के विद्वान थे। वे मैसूर के पौर्वात्य अनुसंधान संस्थान (Oriental Research Institute) में पुस्तकालयाध्यक्ष थे। उन्होने अर्थशास्त्र (ग्रन्थ) की खोज की और उसे प्रकाशित किया।