मुख्य मेनू खोलें
यह रेखीय बी लिपि मे लिखित तख़्ती एक तेली के घर से मिली जिसमें किसी ग्राहक की ऊन रंगने की बात लिखी है

रेखीय बी एक अक्षरमाला पर आधारित लिपि थी जिसका प्रयोग प्राचीन यूनान में माइसीनियाई यूनानी लिखने के लिए किया जाता था। यह यूनानी वर्णमाला से कई सदियों पहले प्रचलित थी और माइसीनियाई संस्कृति के पतन के साथ-साथ इसका प्रयोग भी ख़त्म हो गया। रेखीय बी के अभिलेख नोसोस, साइडोनिया, पाएलोस, थीब्स और माइसीनाए के स्थलों पर मिली हैं।[1][2] रेखीय बी की विलुप्ति के बाद कुछ अरसे तक यूनान में किसी लिखाई का सबूत नहीं मिला है और इस काल को यूनानी अंधकार काल कहा जाता है। भाषावैज्ञानिकों का मानना है कि यह लिपि रेखीय ए नामक लिपि की संतान थी जो क्रीत के द्वीप पर बोली जाने वाली मिनोआई भाषाओँ के लिए विकसित की गई थी।

रेखीय बी में लगभग ८७ भिन्न ध्वनियों से सम्बंधित अक्षर थे, लेकिन साथ ही साथ कुछ भावचित्र (इडियोग्रैम) भी प्रयोग होते थे। कुल मिलकर लीनियर बी में क़रीब २०० चिह्न पाए गए हैं। यह ध्यान योग्य बात है कि इसकी पूर्वज रेखीय ए लिपि को अभी तक भाषावैज्ञानिक पढ़ने और समझने में असमर्थ रहे हैं।

अन्य भाषाओँ मेंसंपादित करें

रेखीय बी को अंग्रेज़ी में "लीनियर बी" (Linear B) और यूनानी में "ग्राम्मिकी बी" (Γραμμική Β) कहा जाता है।

लिपिसंपादित करें

लिपि के कुछ चिह्न और उनके स्वर या भाव नीचे दिए गए हैं। कृपया याद रखें कि इनमें बहुत से चिह्नों को लेकर विद्वानों में मतभेद चल रहा है। ऍमॅट बॅनॅट (Emmet Bennet) नामक विद्वान ने हर चिह्न को एक निर्धारित अंक दे दिया है जो हर चिह्न के साथ नीचे की सूचियों में भी लिखा हुआ है।

अक्षर चिह्नसंपादित करें

इन अक्षरों की ध्वनियाँ माइकल वॅन्ट्रिस और जॉन चैडविक के अध्ययन से लीं गई हैं। यह पक्का नहीं है कि इन सबका उच्चारण बिलकुल वैसा है जैसा यहाँ दिया गया है - यह केवल अनुमानित ध्वनियाँ हैं जो भविष्य में और अनुसन्धान से ग़लत भी साबित हो सकती हैं।[3]

स्वरों और व्यंजनों के ज्ञात चिह्न (बॅनॅट अंक सहित)
-अ -ए -ई -ओ -ऊ
𐀀  

*०८

𐀁  

*३८

𐀂  

*२८

𐀃  

*६१

𐀄  

*१०

द- 𐀅   दा

*०१

𐀆   दे

*४५

𐀇   दी

*०७

𐀈   दो

*१४

𐀉   दू

*५१

ज- 𐀊   जा

*५७

𐀋   जे

*४६

𐀍   जो

*३६

क- 𐀏   का

*७७

𐀐   के

*४४

𐀑   की

*६७

𐀒   को

*७०

𐀓   कू

*८१

म- 𐀔   मा

*८०

𐀕   मे

*१३

𐀖   मी

*७३

𐀗   मो

*१५

𐀘   मू

*२३

न- 𐀙   ना

*०६

𐀚   ने

*२४

𐀛   नी

*३०

𐀜   नो

*५२

𐀝   नू

*५५

प- 𐀞   पा

*०३

𐀟   पे

*७२

𐀠   पी

*३९

𐀡   पो

*११

𐀢   पू

*५०

क़- 𐀣   क़ा

*१६

𐀤   क़े

*७८

𐀥   क़ी

*२१

𐀦   क़ो

*३२

र- 𐀨   रा

*६०

𐀩   रे

*२७

𐀪   री

*५३

𐀫   रो

*०२

𐀬   रु

*२६

स- 𐀭   सा

*३१

𐀮   से

*०९

𐀯   सी

*४१

𐀰   सो

*१२

𐀱   सू

*५८

त- 𐀲   ता

*५९

𐀳   ते

*०४

𐀴   ती

*३७

𐀵   तो

*०५

𐀶   तू

*६९

व- 𐀷   वा

*५४

𐀸   वे

*७५

𐀹   वी

*४०

𐀺   वो

*४२

ज़- 𐀼   ज़ा

*१७

𐀽   ज़े

*७४

𐀿   ज़ो

*२०

विशेष और अज्ञात चिह्नसंपादित करें

यह ऐसे चिह्न हैं जो या तो संयुक्त अक्षर प्रतीत होते हैं या फिर इनकी ध्वनियाँ अभी अज्ञात हैं।

विशेष चिह्न
अक्षर 𐁀   𐁁   𐁂   𐁃   𐁄   𐁅   𐁇   𐁆   𐁈   𐁉   𐁊   𐁋   𐁌
 
𐁍  
Transcription (हा) (ऐ) द्वे द्वो न्वा प्ते पू (फू) रा (र्या) रा (रै) रो (र्यो) ता (त्या) त्वे त्वो
बॅनॅट अंक *२५ *४३ *८५ *७१ *९० *४८ *६२ *२९ *७६ *३३ *६८ *६६ *८७ *९१

निम्नलिखित चिह्न ऐसे हैं जिनकी ध्वनियाँ या तो पता ही नहीं हैं या फिर वैज्ञानिकों ने उनकी धवानियों के बारे मे कमज़ोर प्रमाणों पर तुक्के लगाए हैं जो बिलकुल ग़लत हो सकते हैं।

अज्ञात या शुबे वाले चिह्न
अक्षर 𐁐
 
𐁑
 
𐁒
 
𐁓
 
𐁔
 
𐁕
 
𐁖
 
𐁗
 
𐁘
 
𐀎
 
𐁙
 
𐁚
 
𐁛
 
𐁜
 
𐁝
 
लिप्यन्तरण *१८ *१९ *२२ *३४ *३५ *४७ *४९ पा? *६३ स्वी? जू? ज़ू? स्वा? *८३ *८६ *८९
बॅनॅट अंक *१८ *१९ *२२ *३४ *३५ *४७ *४९ *५६ *६३ *६४ *६५ *७९ *८२ *८३ *८६ *८९

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Hogan, C. Michael (2008). "Cydonia". The Modern Antiquarian. Julian Cope.
  2. Wren, Linnea Holmer (1986). Perspectives on Western Art: Source Documents and Readings from the Ancient Near East Through the Middle Ages. Westview Press. पृ॰ 55. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0064301540, 9780064301541 |isbn= के मान की जाँच करें: invalid character (मदद). नामालूम प्राचल |coauthors= की उपेक्षा की गयी (|author= सुझावित है) (मदद)
  3. Michael Ventris, John Chadwick. "Documents in Mycenaean Greek: three hundred selected tablets from Knossos, Pylos, and Mycenae". University Press, 1956.