मुख्य मेनू खोलें

रॉबर्ट वाड्रा (जन्म-18 मई 1969) भारत के भूतपूर्व प्रधानमंत्री श्री राजीव गांधी की सुपुत्री कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी के पति हैं। [1]

रॉबर्ट वाड्रा
जन्म 18 मई 1969 (1969-05-18) (आयु 50)
राष्ट्रीयता Flag of India.svg भारत
व्यवसाय व्यवसायी
जीवनसाथी प्रियंका वाड्रा

अनुक्रम

पारिवारिक पृष्ठभूमि व प्रारंभिक जीवनसंपादित करें

वाड्रा का जन्म 18 मई 1969 को हुआ था। उनके पिता का नाम राजेन्द्र वाड्रा तथा माँ का नाम मॉरीन वाड्रा है, जो कि मूल रूप से स्कॉटिश हैं।[2] उनके दादा हुकुम राय वाड्रा यहां 1954 में पाकिस्तान के सियालकोट के एक पंजाबी खत्री परिवार से आकर पहले बेंगलुरु और फिर मुरादाबाद में आकर बस गए थे। यहीं रॉबर्ट का जन्म हुआ। पिता राजेंद्र वाड्रा का पीतल का शुरू में छोटा-मोटा कारोबार था जो कि बाद में काफी फला फूला। रॉबर्ट ने दिल्ली के ब्रिटिश स्कूल में पढ़ाई की। दसवीं के बाद उन्होंने पढ़ाई नहीं की।हाँ ये सही बात है।

प्रियंका से विवाहसंपादित करें

1997 में रॉबर्ट का विवाह प्रियंका से हुआ।[1]

परिवार में दुर्घटनाएँसंपादित करें

उनकी बहन मिशेल की 2001 में एक कार दुर्घटना में मृत्यु हो गई। 2003 में उनके भाई रिचर्ड की लाश घर में लटकी हुई मिली थी और पिता ने 2009 में आत्महत्या कर ली।[1]

विवादसंपादित करें

जांच से छूटसंपादित करें

2005 में उन्हें सरकार ने एयरपोर्ट पर सुरक्षा जांच से मुक्त रहने वालों की वीआईपी लोगों की सूची में शामिल किया था। तब सवाल उठे कि किस आधार पर इन्हें यह सुविधा दी गई है।[1]

जमीन घोटालासंपादित करें

हरियाणा के एक अफसर अशोक खेमका ने लैंड कंसोलिडेशन डिपार्टमेंट का चार्ज छोड़ते वक्त रॉबर्ट और भारत की एक अग्रणी रियल एस्टेट कंपनी डीएलएफ के बीच गुड़गांव जिले में हुई ज़मीन सौदे की म्यूटेशन को रद्द कर दिया। अपनी रिपोर्ट में खेमका ने कहा कि यदि सही तरीके से जांच हो तो हरियाणा की काँग्रेस सरकार के कार्यकाल के दौरान 20 हजार करोड़ से 350 हजार करोड़ तक का जमीनों का घोटाला निकल कर सामने आ सकता है।[1]

वॉल स्ट्रीट जर्नल का खुलासासंपादित करें

2014 चुनावों के दौरान अमेरिका के एक प्रतिष्ठित अखबार वॉल स्ट्रीट जर्नल में छपी खबर के अनुसार, वाड्रा ने 2007 में एक लाख रुपये के साथ अपने व्यापार की शुरुआत की, लेकिन 2012 में उनकी संपत्ति 300 करोड़ से भी अधिक की हो गई। अर्थव्यवस्था में छाई मंदी के समय में एसी वृद्धि आश्चर्यजनक है।[1][3]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "रॉबर्ट वाड्रा: लव, लैंड और लोचा". नवभारत टाईम्स. 29 अप्रैल 2014. अभिगमन तिथि 29 अप्रैल 2014.
  2. "Another tragedy in Vadra family", टाइम्स ऑफ इंडिया, 20 सितम्बर 2003.
  3. "Behind a Real-Estate Empire, Ties to India's Gandhi Dynasty". द वॉल स्ट्रीट जर्नल. 17 अप्रैल 2014. अभिगमन तिथि 24 अप्रैल 2014.