रोबर्ट एच॰ गोडार्ड

रॉबर्ट हचिंग्स गोडार्ड (5 अक्टूबर, 1882 - 10 अगस्त, 1945) [1]एक अमेरिकी इंजीनियर, प्रोफेसर, भौतिक विज्ञानी और आविष्कारक थे, जिन्हें दुनिया का पहला तरल-ईंधन रॉकेट बनाने का श्रेय दिया जाता है[2]। गोडार्ड ने 16 मार्च, 1926 को सफलतापूर्वक अपना रॉकेट लॉन्च किया, जिसने अंतरिक्ष उड़ान और नवाचार के युग की शुरुआत की।  उन्होंने और उनकी टीम ने १९२६ और १९४१ के बीच ३४ रॉकेट लॉन्च किए, जिनकी ऊंचाई २.६ किमी (१.६ मील) और स्पीड ८८५ किमी/घंटा (५५० मील प्रति घंटे) जितनी तेज थी।[1]

Robert H. Goddard
Dr. Robert H. Goddard - GPN-2002-000131.jpg
Robert Hutchings Goddard (1882–1945)
जन्म ५ अक्टूबर १८८२
Worcester, Massachusetts, U.S.
मृत्यु अगस्त 10, 1945(1945-08-10) (उम्र 62)
Baltimore, Maryland, U.S
राष्ट्रीयता American
शिक्षा
व्यवसाय Professor, aerospace engineer, physicist, inventor
प्रसिद्धि कारण First liquid-fueled rocket
जीवनसाथी Esther Christine Kisk (वि॰ 1924–45)
पुरस्कार

संदर्भसंपादित करें

  1. "Genesis: Search for Origins | JPL | NASA". solarsystem.nasa.gov. अभिगमन तिथि 2021-09-06.
  2. "Exhibitions". airandspace.si.edu (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2021-09-06.