मुख्य मेनू खोलें

रोला एक छन्द है। यह एक सम मात्रिक छंद है। इसमें 24 मात्राएँ होती हैं, अर्थात विषम चरणों में 11-11 मात्राएँ और सम चरणों में 13-13 मात्राएँ। 11वीं व 13 वीं मात्राओं पर यति अर्थात विराम होता है। यति से पूर्व २१ अर्थात् गुरु व लघु तथा अंत में १२ अर्थात् लघु गुरु रखने से सुन्दर लय आती है।

उदाहरण

नीलाम्बर परिधान हरित पट पर सुन्दर है।
२२११ ११२१=११ / १११ ११ ११ २११२ = १३
सूर्य-चन्द्र युग-मुकुट, मेखला रत्नाकर है।
२१२१ ११ १११=११ / २१२ २२११२ = १३
नदियाँ प्रेम-प्रवाह, फूल तारा-मंडल है।
११२ २१ १२१=११ / २१ २२ २११२ = १३
बंदीजन खगवृन्द, शेष-फन सिंहासन है।
२२११ ११२१ =११ / २१११ २२११२ = १३ - मैथिलीशरण गुप्त

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें