लक्ष्मी छाया (७ जनवरी १९४८- ९ मई २००४) एक भारतीय अभिनेत्री और नर्तकी थी, जो १९६० और १९७० के दशक में ५५ से भी अधिक बॉलीवुड और मराठी फिल्मों[1][2][3][4][5] में दिखाई दी। वह संयुक्त राज्य अमेरिका में मुखौटे वाली नर्तकी के रूप में सर्वश्रेष्ठ जानी जाती है जो १९६५ की फिल्म गुमनाम से ;जान पाहेन हो' में नर्तकी निबाने के बाद।

लक्ष्मी छाया
जन्म ७ जनवरी १९४८
मुंबई, महाराष्ट्र, भारत
मृत्यु 9 मई २००४(२००४-05-09) (उम्र 56)
मुंबई, महाराष्ट्र, भारत
राष्ट्रीयता भारतीय
व्यवसाय अभिनेत्री

उन्होंने १९६१ से १९८२ तक फिल्मों में काम किया फिर वो गरीब बच्चों को नृत्य की शिक्षा दी।

२००४ में ५६ साल की उम्र में कैंसर से उनकी मृत्यु हो गई थी मुंबई में।

फिल्मोग्राफीसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Listener's Bulletin No. 125, September 2004, p 4.
  2. Laxmi Chhaya & Dilawar Khan ScreenIndia.com 4 June 2004[मृत कड़ियाँ]
  3. "IMDB filmography". मूल से 14 अप्रैल 2012 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 17 सितंबर 2017.
  4. "List of films at Amazon.com". मूल से 15 मार्च 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 17 सितंबर 2017.
  5. "The Man Who Loved Women". मूल से 23 October 2011 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2011-10-15. नामालूम प्राचल |deadurl= की उपेक्षा की गयी (मदद), Khalid Mohamed, The Asian Age, 15 October 2011