लिपिस्टिक 1976 में जारी की गयी, लेमण्ट जॉनसन द्वारा निर्देशित अमेरिकी बलात्कार और बदला की घटनाओ से सम्बद्ध फ़िल्म है। इसमें मुख्य भूमिका में मारगौक्स हेमिंग्वे और मेरील हेमिंग्वे हैं।[1] मोशन पिकचर्स के इतिहास में जघन्य अपराध जैसे दृश्य दिखाने वाली फ़िल्म है जिसमें अत्यंत ग्राफिक और शोषक बलात्कार के दृश्य दिखाये गये हैं।

लिपस्टिक
निर्देशक लेमण्ट जॉनसन
निर्माता फ्रेड्डी फ़ील्ड्स
लेखक डेविड रायफील
अभिनेता मारगौक्स हेमिंग्वे
क्रिस सरंडोन
मेरील हेमिंग्वे
एनी बानक्रॉफ़्ट
संगीतकार मिशेल पोल्नारेफ्फ़
छायाकार बिल बटलर
संपादक मेरिऑन रोथमान
वितरक पैरामाउंट पिक्चर्स
प्रदर्शन तिथि(याँ)
  • अप्रैल 2, 1976 (1976-04-02)
समय सीमा 89 मिनट
देश संयुक्त राज्य अमेरिका
भाषा अंग्रेज़ी
कुल कारोबार $8,328,666

कथानकसंपादित करें

संगीतसंपादित करें

लिपस्टिक
संगीत मिशेल पोल्नारेफ्फ़ द्वारा
जारी 1976
लंबाई 28:44
लेबल एंटलांटिक रिकार्ड्स

फ़िल्म का संगीत फ्रांसीसी गायक मिशेल पोल्नारेफ्फ़ ने दिया जो 1976 में एंटलांटिक रिकार्ड्स एलबम में जारी कर दिया गया था। फ़िल्म के संगीत को अमेरिका सहित सम्पूर्ण विश्व में अपार सफलता प्राप्त हुई।

क्र॰शीर्षकअवधि
1."लिपस्टिक"03:33
2."लिपस्टिक मोंटेज"12:37
3."द रेपिस्ट"10:57
4."बैले"02:17
कुल अवधि:28:44

भारतीय पुनर्निमाणसंपादित करें

इस फ़िल्म पर आधारित दो भारतीय फ़िल्में बन चुकी हैं।

  • प्रथम पुनर्निमाण हिन्दी फ़िल्म इंसाफ का तराजू (1980) थी[2] जिसे भारी सफलता मिली।
  • इसी फ़िल्म पर आधारित अन्य फ़िल्म तेलुगू में थी जिसका शीर्षक ईडी नयायम ईडी धर्मम (1982) है।[3]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "New York Times". मूल से 19 अक्तूबर 2013 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 9 सितंबर 2013.
  2. M.L. Dhawan (Sunday, December 2, 2001). "When substance was more important". The Tribune. मूल से 26 अक्तूबर 2012 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि नवम्बर 3, 2010. |date= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)
  3. "राज से डरने लगी थीं लड़कियां, इंसाफ के तराजू में बने वो ऐसे शैतान!". दैनिक भास्कर. 9 सितम्बर 2013. मूल से 13 सितंबर 2013 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 9 सितम्बर 2013.

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें