karamसंपादित करें

कोइ भ इन्शान क कर्म वो खुद निस्च्य नहि कर सकता है कर्म खुद ब खुद ही निस्च्य कतर्त है

पृष्ठ "कर्म" पर वापस जाएँ।