वार्ता:पृथ्वीराज रासो

विषय जोड़ें
सक्रिय चर्चाएँ

पहलेसंपादित करें

पूर्णिमा जी,

आप हमारे संस्कृति एवं इतिहास का विकिपीडिया के माध्यम से जो प्रचार-प्रसार कर रही हैं उसके लिये कोटिशः साधुवाद। मुझे लगता है कि, आप बहुत अच्छा लिखती हैं, फिर भी इस लेख, अर्थात् पृथ्वीराज रासो, में जो आपने लिखा है वह और अधिक आकर्षक (appealing) लगता यदि आप

"११६५ से ११९२ के बीच जब पृथ्वीराज चौहान का राज्य अजमेर से दिल्ली तक फैला हुआ था, उसके राज कवि चंद बरदाई ने पृथ्वीराज रासो की रचना की। यह हिन्दी का प्रथम महाकाव्य माना जा सकता है। इस महाकाव्य में पृथ्वीराज चौहान के जीवन और चरित्र का वर्णन किया गया है। चंद बरदाई पृथ्वीराज के बचपन के मित्र थे और उनकी युद्ध यात्राओं के समय वीर रस की कविताओं से सेना को प्रोत्साहित भी करते थे।"

लिखने के स्थान पर

"पृथ्वीराज रासो की रचना चंद बरदाई ने की थी जो कि पृथ्वीराज चौहान के राज कवि थे। यह तो शायद सभी को पता होगा कि ११६५ से ११९२ के बीच पृथ्वीराज चौहान का राज्य अजमेर से दिल्ली तक फैला हुआ था। यह भी सत्य है कि चंद बरदाई पृथ्वीराज के बाल्यकाल के मित्र थे और उनकी युद्ध यात्राओं के समय वीर रस की कविताओं से सेना को प्रोत्साहित भी करते थे।"

लिखतीं।

चलिये कोई बात नहीं। आपने जो लिखा है वह भी बहुत अच्छा है। किन्तु यदि मेरे अनुसार बदलाव यदि आपको पसंद आये तो मेरा अनुरोध है कि, इस बदलाव में किसी भी प्रकार का और भी बदलाव (mutatis mutandis) करके अपने लेख में परिवर्तन कर सकती हैं।

Gk awadhiya

पृष्ठ "पृथ्वीराज रासो" पर वापस जाएँ।