जल द्वारा वाहित (carried) अपशिष्ट वाहितमल या जलमल (Sewage) कहा जाता है। इसमें मल विलयन या निलंबन रूप में हो सकता है। मल में जल मिलाने से उसे गुरुत्व द्वारा एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाने में आसानी होती है। मलजल में प्रायः ९९% से अधिक जल होता है। 'मल' के अन्तर्गत मानव विष्टा, मूत्र, रसोईघर का गन्दा पानी, तथा स्नान और धुलाई का गन्दा जल आदि शामिल हैं।

संग्रहणसंपादित करें

जलमल को गुरुत्व द्वारा उपचार-स्थल तक ले जाया जा सकता है। यदि खुदाई कठिन हो तो सीवेज को पम्प करके उपचार स्थल तक पहुँचाया जा सकता है। जिन बस्तियों का स्तर नीचा हो वहाँ से आम्शिक निर्वात पाइपों द्वारा सीवेज खींचा जा सकता है।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें