विचित्रता

मूलभूत कण का एक गुणधर्म

कण भौतिकी में विचित्रता S कण का गुणधर्म है जिसे क्वान्टम संख्या के रूप उल्लिखित किया जाता है, जो प्रबल और वुद्युत चुम्बकीय अभिक्रियाओं, जो अतिअल्प कालावधि में घटित हो जाती हैं, में कणों के क्षय का वर्णन करने लिए काम में लिया जाता है। एक कण की विचित्रता निम्न प्रकार परिभाषित की जाती है:

कण भौतिकी में फ्लेवर
फ्लेवर क्वान्टम संख्या:

सम्बंधित क्वांटम संख्या:


संयुक्त:


फ्लेवर मिश्रण

जहाँ ns विचित्र क्वार्कों (s) की संख्या को तथा ns विचित्र प्रतिक्वार्कों (s) की संख्या को निरूपित करता हि।

पद विचित्र और विचित्रता क्वार्क के आविष्कार से पहले प्रेक्षित की गयी।

सन्दर्भसंपादित करें

  • D.J. Griffiths (1987). Introduction to Elementary Particles (अंग्रेज़ी में). John Wiley & Sons. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0-471-60386-4. मूल से 19 अप्रैल 2013 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 22 जुलाई 2013.