सुल्तानपुर जिले के कादीपुर तहसील में स्थित विजेथुवा महावीरन "भगवान हनुमान" को समर्पित एक प्रसिद्ध पौराणिक मंदिर है। माना जाता है कि यह वही स्थान है जहाँ पर पवनपुत्र भगवान हनुमान ने लंकाधिपति रावण के मामा "कालनेमि" नामक दानव का वध किया था। लक्ष्मण के प्राण बचाने के लिए जब हनुमान जी "संजीवनी बूटी" लेने के लिए गए थे, तो रावण द्वारा भेजे गए कालनेमी दानव ने उनका रास्ता रोकने का प्रयास किया था। उस समय हनुमान जी ने कालनेमी दानव का वध इसी स्थान पर किया था। यहीं से कुछ दूरी पर उमरपुर नामक गाँव में भगवान शिव जी का मंदिर भी स्थित है।