विद्युत उपकेंद्र (electrical substation) विद्युत उत्पादन, संचारण और वितरण प्रणालियों में प्रयुक्त एक सहायक केन्द्र होता है जहाँ वोल्टता को परिणामित्र की सहायता से अधिक से कम या कम से अधिक किया जाता है। विद्युत उत्पादन केन्द्र से लेकर विद्युत उपभोक्ता तक कई उपकेन्द्र लगाने की जरूरत पड़ती है और वोल्टता को कई चरणों में परिवर्तित किया जाता है न कि एक ही चरण में।

Schaltwerk Neckarwestheim.jpg

उपकेन्द्र में स्थित विभिन्न युक्तियाँसंपादित करें

प्राथमिक उपकरण
  • पावर ट्रांसफार्मर
  • आटोट्रांसफॉर्मर
  • उच्च वोल्टेज सर्किट ब्रेकर
  • ग्राउंडिंग
  • अरेस्टर
  • धारा ट्रांसफार्मर
  • वोल्टेज ट्रांसफॉर्मर
  • संयुक्त उपाय (धारा + वोल्टेज)
  • बसबार
  • संधारित्र
द्वितियक
  • सुरक्षात्मक रिले,
  • निगरानी उपकरण,
  • स्क्रीनिंग उपकरण
  • दूरनियंत्रण प्रणाली
  • ऊर्जा मापन
  • सहायक शक्ति
  • दूरसंचार उपकरण
  • स्टेट रिकॉर्डर

उपकेन्द्रों का वर्गीकरणसंपादित करें

वोल्टेज श्रेणी के आधार पर
उपयोग के आधार पर

ट्रांसमिशन, वितरण या रेलवे उपकेन्द्र आदि

घर के अन्दर या बाहर

इनडोर, आउटडोर, धरती के नीचे, आधा अन्दर आधा बाहर, चलित-उपकेन्द्र आदि

ब्रेकर के आधार पर

एयर-इंसुलेटेड, SF6 इंसुलेटेड, मिश्रित आदि

नियंत्रण प्रणाली के आधार पर
अन्य

एसी-डीसी परिवर्तक एवं आवृत्ति परिवर्तक उपकेन्द्र

पठनीयसंपादित करें