विद्युत उत्पादकों से विद्युत शक्ति लेकर विद्युत उपभोक्ताओं तक उपलब्ध कराने के लिये प्रयोग किये जाने वाले परस्पर जुड़े हुए विद्युत नेटवर्कों को विद्युत ग्रिड (electrical grid) कहते हैं। इसके मुख्य तीन भाग होते हैं - विद्युत संयंत्र (power stations), संचरण लाइनें (transmission lines) तथा ट्रांसफॉर्मर

विद्युत ग्रिड का एक सामान्य अभिविन्यास (लेआउट)

विद्युत ग्रिड की विभिन्न संरचनाएँसंपादित करें

विद्युत ग्रिडों को कई प्रकार से जोड़ा जा सकता है। इनका वर्नन नीचे दिया गया है-

विद्युत् उत्पादकों से विद्युत् लेकर उपभोक्ताओ को उपलब्ध कराने हेतु परस्पर जुड़े हुए विद्युत् तंत्र को विद्युत् ग्रिड कहते है, इसके मुख्यतया तीन घटक होते है :

१- 'शक्ति संयंत्र (पॉवर स्टेशन) - इसके अंतर्गत दहनशील ईंधन (coal, natural गैस, biomass) अथवा अदाहनशील ईंधन ((wind, solar, nuclear, hydro power) से विद्युत् का उत्पादन किया जाता है।

२- संचरण तंत्र - इसके अंतर्गत विद्युत् को आपूर्ति केंद्र से देय केंद्र तक प्रेषित किया जाता है।

३- ट्रांस्फार्मर -विद्युत् वितरण हेतु वोल्टज को स्टेप-डाउन करता है।

सन्दर्भसंपादित करें

इन्हें भी देखेंसंपादित करें