जिन वाक्योँ में क्रिया के करने या होने का बोध हो और ऐसे वाक्योँ में किसी काम के होने या किसी के अस्तित्व का बोध होता हो, उन्हें विधिवाचक या विधानवाचक वाक्य कहते हैं।

उदाहरणसंपादित करें

  1. सूर्य गर्मी देता है।
  2. वह शिमला गया होगा।
  3. भारत हमारा देश है।
  4. वह बालक है।
  5. हिमालय भारत के उत्तर दिशा में स्थित है।
व्यख्या
उपरोक्त वाक्योँ में सूर्य का गर्मी देना, हिन्दी का आधिकारिक भाषा होना आदि कार्य हो रहे हैं और किसी के (देश तथा बालक) होने का बोध हो रहा है।

सन्दर्भसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें