विनय कुमार

भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी

विनय कुमार (जन्म : जन्म १२ फ़रवरी १९८४) भारत के एक क्रिकेट खिलाड़ी हैं।

चित्र:Viinaykumar.jpg
विनय कुमार

परिचयसंपादित करें

रंगनाथ विनय कुमार का जन्म १२ फ़रवरी १९८४ में हुआ। उन्होंने भारत को टेस्ट, एक दिवसीय और ट्वेंटी -२० में प्रतिनिधित्व किया है। वो दाएं हाथ के मध्यम तेज गेंदबाज है और घरेलू क्रिकेट कर्नाटक के लिए खेलते हैं। पहली बार इंडियन प्रीमियर लीग में उन्होंने बैंगलोर रॉयल चैलेंजर्स (२००८–२०१०) के लिए खेला था, अगली साल कोच्चि टस्कर्स केरल (२०११) के लिए खेला। बाद में उन्होंने फिर से २०१२ में बैंगलोर रॉयल चैलेंजर्स के लिए खेला। इस बार बैंगलोर रॉयल चैलेंजर्स में खिलाने के लिए बैंगलोर मताधिकार उन्हे १ मिलियन अमेरिकी डालर देना पडा। २०१३ में भारतीय टीम के लिए वो ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय मैच खेला।

व्यक्तिगत जीवनसंपादित करें

विनय कुमार का जन्म दावणगेरे, कर्नाटक में हुआ। उनके पिता एक ऑटो रिक्शा चालक रहे हैं। वह दावणगेरे में एक सरकारी स्कूल में अपना प्रारम्भीक शिक्षा किया और ए.र.जि. आर्ट्स और कॉमर्स कॉलेज में बैचलर ऑफ कॉमर्स की डिग्री प्राप्त किया। विनय कुमार कि शादी नई दिल्ली कि लड़की रिचा (०२ दिसम्बर २०१३) के सात हुई।

प्रारंभिक कैरियर (२००४-२०१०)संपादित करें

विनय कुमार कर्नाटक की रणजी ट्रॉफी टीम में पहली बार २००४-२००५ सीज़न में खेला। उन्होंने अपनी पहली मैच बंगाल के खिलाफ खेला था। वो रणजी ट्रॉफी सीज़न २००७-२००८ के दूसरी सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज रहे। उन्होंने १८.५२ की औसत से ४० विकेट प्राप्त किया। उन्हे अभिषेकात्मक इंडियन प्रीमियर लीग में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूर के लिए खिलाया गया था। सब उन्हे प्यार से दावणगेरे एक्सप्रेस बुलाते हैं। वो २००९-२०१० सीज़न के सर्वाधिक विकेट लेनेवाले गेंदबाज रहे। २०१० के इंडियन प्रीमियर लीग में उन्होंने १६ विकेट प्राप्त किया, तेज गेंदबाजों के बीच सबसे अधिक विकेट लेनेवाले रहे थे। इनका यह प्रदर्शन उन्हे भारत के लिए २०१० आईसीसी विश्व ट्वेंटी-२० में उनका नाम दर्ज किया। इस टूर्नामेंट में कुमार ने एक मैच खेला और इस मैच में कुमार ने दो विकेट प्राप्त की।

अंतर्राष्ट्रीय कैरियर (२०१० से अब तक)संपादित करें

विनय कुमार ने अपनी पहली एक दिवसीय मैच जिम्बाब्वे के खिलाफ खेला और इस मैच में उसने दो विकेट लिए। उन्होंने अगली मैच से पहले अपने घुटने घायल कर लिया। इसके बाद कुमार ने फिर से भारत कि एक दिवसीय टीम में वापसी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ किया। २०११ में उन्हे कोच्चि टस्कर्स केरल ने ४७५,००० अमेरिकी डालर में खरीदा। कुमार ने फिर से भारतीय टीम में वापसी वेस्ट इंडीज और इंग्लैंड दौरा किया। उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ तीन मैच खेले और बाद में उन्हे पहली बार टेस्ट मैच खेलने का मौका मिला। ऑस्ट्रेलिया में चार मैचों की श्रृंखला में उन्हे तीसरे टेस्ट मैच में खिलाया गया। पर्थ में खेले गए इस मैच में कुमार ने माइकल हसी कि विकेट प्राप्त किया। ३ फ़रवरी २०१२ भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले गए ट्वेंटी -२० मैच में उन्हे खेलने का मौका मिला।

खेलने का शैलीसंपादित करें

क्रिकेट वेबसाइट ईएसपीएन क्रिकइन्फो कुमार गेंदबाजी की शैली को वेंकटेश प्रसाद के साथ तुलना करते हैं। कुमार के गेंदबाजी में गति कम होने के कारण उन्हे आलोचित किया गया है। विनय कुमार ने अगर कोई कला महारत हासिल किया हे तो वो विकेट लेना है।