मुख्य मेनू खोलें

विनोद खोसला (जन्म २८ जनवरी, १९५५ पुणे, भारत में[1] एक भारतीय-अमेरिकी पूँजी निवेशकर्ता हैं। वे सिलिकॉन वैली में एक प्रभावशाली व्यक्ति हैं। वे सन माइक्रोसिस्टम्स के सह संस्थापक हैं और क्लेनेर, पर्किन्स, कॉफ़ील्ड ऐंड बेयर्स निवेश कम्पनी के 1986 से सामान्य भागीदार हैं।

विनोद खोसला
Vinod Khosla
Vinod Khosla, Web 2.0 Conference.jpg
जन्म 28 जनवरी 1955 (1955-01-28) (आयु 64)
पुणे, भारत
व्यवसाय उद्यम पूँजीवादी
कुल मूल्य Green Arrow Up Darker.svg$1.82 बिलियन
जीवनसाथी नीरू
बच्चे 4

प्रारंभिक जीवन और शिक्षासंपादित करें

खोसला ने इलेक्ट्रॉनिक इंजिनियरिंग टाइम्ज़ में 14 की आयु में इंटेल की स्थापना के बारे में पढ़ा और यही उन्हें टेकनॉलजी में कैरियर बनाने के लिए प्रेरित किया। आगे खोसला ने आई आई टी दिल्ली से डिग्री और कार्नेजी मेलन युनिवर्सिटी से बायो मेडिकल इंजिनियरिंग में मास्टर्स प्राप्त किया और स्टैनफ़ोर्ड ग्रैजवेट स्कूल ऑफ़ बिज़नेस से एम बी ए किया।

सन माइक्रोसिस्ट्म्ससंपादित करें

स्टैनफ़ोर्ड युनिवर्सिटी से 1980 में ग्रैजुएशन पूरा करने के बाद खोसला ने अपने स्टैनफ़ोर्ड साथियों स्कॉट मैकनेएली, ऐंडी बेकटोलशेइम और बर्केले के बिल जॉए से मिलकर सन माइक्रोसिस्ट्म्स की स्थापना की। खोसला ने 1985 में सन को छोड़ा। 1986 में वे क्लेनेर, पर्किन्स, कॉफ़ील्ड ऐंड बेयर्स निवेश कम्पनी के १९८६ से सामान्य भागीदार बने। खोसला टीई और इंडस ऑन्ट्रप्रेनर्स के संस्थापकों में से एक हैं, वे एकनॉमिक टाइम्स के एक विशेष अंक के अतिथि-संपादक रहे हैं, जो भारत एक प्रमुख व्यापार समाचारपत्र है।

सन के बादसंपादित करें

खोसला ज़ैपलेट डॉट कॉम के "स्नेह में गिरफ़्तार" हुए, और यह कम्पनी प्रशासन, जोखिम और न्याय-अनुसरन में नेतृत्व करने लगी है। [2]

व्यापारिक प्रारंभ में विशेषज्ञ होकर भी खोसला ने टेकनॉलजी की कई नाकामियों में महत्त्वपूर्ण योगदान दिया है जिनमें आसेरा, ज़ंबील, डाइना बुक, एक्साइट और कई अन्य शामिल हैं।

2004 में खोसला ने अपनी स्वयं की कम्पनी खोसला वेंचर्स स्थापित की।

खोसला ने एक भारतीय सूक्ष्म-वित्त वाली गैर सरकारी संस्था एस के एस माइक्रोफ़ाइनान्स में निवेश किया, जो भारत की गरीब महिलाओं को छोटे ऋण देती है।

विनोद को डेटलाइन एनबीसी पर रविवार, 7 मई, 2006 पर दिखाया गया था। इसमें वे एथेनॉल के ईंधन के रूप में उपयोग पर प्रकाश डाल रहे थे। उन्होंने एथेनॉल कम्पनियों में व्यापक रूप से फैलाव की आशा में निवेश किया। इसके लिए वे ब्राज़ील का उदाहरण देते हैं जो विदेशी तेल पर ईंधन के लिए निर्भर नहीं रहा।[3]

खोसला 87 के हामी अभियान के प्रमुख निधिकारक थे जो कैलिफ़ोर्निया प्रोपोज़ीशन 87 को पारित करवाने के लिए था, जो स्वच्छ ऊर्जा की एक पहल थी, हालाँकि नम्बर 2006 में वह पारित होने से रह गई।

2006 में खोसला ने सी के डॉट ओ आर जी की स्थापना की ताकि पाठ्यपुस्तकों का एक मुक्त स्रोत बने जिससे अमरीका में और संसार में शिक्षा का खर्च कम हो। खोसला और उनकी पत्नी नीरू तुलनात्मक दृष्टि से विकिमीडिया फ़ाउंडेशन के तात्त्विक दानकर्ताओं में से एक हैं। इन्होंने $500,000 दान दिया था। [4]

व्यक्तिगत जीवनसंपादित करें

खोसला अपनी पत्नी के साथ वुडसाइड, कैलिफ़ोर्निया में अपनी पत्नी नीरू और उनके चार बच्चों - तीन बेटियाँ (नीना, अनु और वाणी), और बेटे नील के साथ रह्ते हैं।

उपलब्धियाँसंपादित करें

स्थापित कम्पनियाँसंपादित करें

खोसला वेंचर्ससंपादित करें

खोसला वेंचर्स कई इंटरनेट, सॉफ़्टवेयर और वातावरण के क्षेत्र में काम करता है।[5] इसकी स्थापन 2004 में हुई थी।

नई कम्पनियों के बनने में सहायतासंपादित करें

बोर्ड सदस्यतासंपादित करें

अन्यसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. IIT Delhi: Distinguished Alumni Awards
  2. A winner looking to back other winners
  3. Venture capitalist a techie at heart October 15, 2006
  4. Cadelago, Chris (अगस्त 24, 2008). "Wikimedia pegs future on education, not profit". San Francisco Chronicle. अभिगमन तिथि 2008-08-24.
  5. Khosla Ventures

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें