मुख्य मेनू खोलें
महर्षि दयानंद सरस्वती के गुरु महर्षि वृजानंद दंडी का जन्म  पंजाब प्रांत में जालंधर जिले के गंगापुर नामक गांव में प० नारायण दत्त जी के यहाँ हुआ था। पांच वर्ष की आयु में शीतला के कारण उनकी दोनो आँखो की दृष्टि चली गई थी। तथा बारह वर्ष की आयु में ही वह माता-पिता की छत्र छाया से वंचित हो गये