विविक्त गणित (Discrete mathematics) गणित की वह शाखा है जो ऐसी गणितीय संरचनाओं का अध्ययन करती है जो मूलतः विविक्त (discrete) होती हैं, न कि सतत (continuous)। विविक्त गणित में पूर्णांकों, ग्राफों, तथा तार्किक कथनों का अध्ययन किया जाता है जिनका परिवर्तन असतत होता है न कि वास्तविक संख्याओं की भांति सतत। विविक्त गणित में प्रयुक्त संरचनाएँ सतत नहीं होतीं बल्कि परस्पर विलग (separated) मान ही धारण करतीं हैं। इस कारण विविक्त गणित में कैलकुलस तथा विश्लेषण आदि विषय नहीं आते और वे 'सतत गणित' के विषय हैं।

यह एक छः नोड वाला ग्राफ है। अन्य चीजों के अलावा इस तरह के ग्राफ भी विविक्त गणित के अध्ययन के विषय हैं।

विविक्त गणित के टॉपिकसंपादित करें

विविक्त गणित का महत्वसंपादित करें

  • विविक्त गणित, अभिकलन (computing) का गणित है।
  • यह अत्यन्त 'वास्तविक संसार का गणित' है।
  • यह गणितीय तर्क करना एवं 'उपपत्ति के तकनीक' (proof technique) सिखाता है।
  • बहुतों के लिये विविक्त गणित एक 'विनोद' (entertainment) भी है।
  • विविक्त गणित की संरचनाएँ (Discrete mathematical structures) सॉफ्टवेयर इंजीनियरी के आधार हैं। और आधुनिक तंत्र अपने डिजाइन व कार्य-निष्पादन के लिये बहुत सीमा तक सॉफ्ट्वेयर पर निर्भर हैं।