"गणितीय सर्वसमिका" के अवतरणों में अंतर

सम्पादन सारांश रहित
{{वार्ता शीर्षक}}'''सर्वसमिका''' ऐसी समता (equality) को कहते हैं जो उसमें निहित (आये हुए) सभी चरों के सभी मानों के लिये सत्य हो। (किसी समता के दोनो पक्षों का मान चर राशि के केवल कुछ विशेष मानों के लिये ही समान होता है)
 
== कुछ उदाहरण ==
निम्नलिखित सर्वसमिका एक सुज्ञात [[त्रिकोणमितीय सर्वसमिका]] है।
:<math> \sin ^2 \theta + \cos ^2 \theta = 1\,</math>
यह सर्वसमिका <math>\theta</math> के सभी [[वास्तविक संख्या | वास्तविक]] मानों के लिये सत्य है।
 
जबकि
; अन्य उदाहरण
 
:<math>(x + y)^2 \,=\, x^2 + 2xy + y^2</math>
यह एक बीजगणितीय सर्वसमिका है।
 
:<math> \sin(x \pm y) = \sin(x) \cos(y) \pm \cos(x) \sin(y) </math>
यह एक त्रिकोणमितीय सर्वसमिका है।
 
==इन्हें भी देखें==
*[[गणितीय सर्वसमिकाओं की सूची]]
 
 
==वाह्य सूत्र==
5,01,128

सम्पादन