"गैसों का अणुगति सिद्धान्त": अवतरणों में अंतर

सम्पादन सारांश नहीं है
छो (r2.6.4) (robot Modifying: ar:نظرية حركية)
No edit summary
{{वार्ता शीर्षक}}[[चित्र:Translational motion.gif|thumb|right|300px|किसी आदर्श एक-परमाणवीय गैस का ताप उसके परमाणुओं की औसत गतिज उर्जा का परोक्ष मापन है। इस एनिमेशन में गैस के परमाणुओ, उनके बीच की दूरी एवं परमाणुओं के चाल को वास्तविक मान से कम या ज्यादा रखा गया है ताकि देखकर समझने में सुविधा हो।]]
 
'''गैसों का अणुगति सिद्धान्त''' (kinetic theory of gases) [[गैस|गैसों]] के समष्टिगत (मैक्रोस्कोपिक) गुणों ([[दाब]], [[ताप]] आदि) को समझने के लिये एक सरलीकृत [[मॉडल]] है। सार रूप में यह सिद्धान्त कहता है कि गैसों का दाब उनके अणुओं के बीच के स्थैतिक प्रतिकर्षण (static repulsion) के कारण '''नहीं''' है (जैसा कि [[न्यूटन]] का विचार था), बल्कि गतिशील अणुओं के आपसी टकराव (collision) का परिणाम है।
== अणुगति सिद्धान्त की मान्यताएँ (Postulates) ==
[[आदर्श गैस|आदर्श गैसों]] के लिये यह सिद्धान्त निम्नलिखित मान्यताओं (assumptions) पर आधारित है-
* गैस बहुत ही छोटे कणों से मिलकर बनी है जिनका [[द्रव्यमान]] '''शून्य नहीं''' है।
* The number of molecules is large such that statistical treatment can be applied.
* These molecules are in constant, [[randomness|random]] motion. The rapidly moving particles constantly collide with the walls of the container.
 
== अणुगति सिद्धान्त का मूलभूत समीकरण ==
:: <math>\langle E_k \rangle = \frac{i}{2}kT</math>
जहाँ:
: <math> \langle E_k\rangle </math> – अणु की औसत गतिज उर्जा
अणुगति सिद्धान्त के मूलभूत समीकरण से अणुओं के औसत वेग का समीकरण सीधे निकाला जा सकता है। एक मोल गैस के लिये (गैस के अणुओं का 'डिग्री आफ फ्रीडम' ३ होता है।) :
 
:: <math>\frac{1}{2}m\langle v^2\rangle = \langle E_k \rangle = \frac{3}{2}kT </math>,
 
<math>m</math> कणों का द्रव्यमान है, तथा <math>\langle v^2\rangle</math> कणों का वेग के वर्ग का औसत है।
== इन्हें भी देखें ==
* [[गैस के नियम]]
* [[बोल्टमैन का समीकरण]]
* [[क्रान्तिक ताप]] (Critical temperature)
* [[ऊष्मा]]
5,01,128

सम्पादन