"हरेकृष्ण मेहेर" के अवतरणों में अंतर

2,477 बैट्स् नीकाले गए ,  9 वर्ष पहले
कुछ लिन्क हटा
(सम्मान कोलकाता जोड़ा)
(कुछ लिन्क हटा)
समकालिक संस्कृत साहित्य में परम्परा और आधुनिकता के प्रसंग में डॉ. मेहेर समन्वयवादी सारस्वत साधक हैं । मौलिक नवीन छन्दों की उद्‌भावना सहित अपनी गीतियों की स्वर-रचना एवं परिवेषण उनकी कवि-प्रतिभा की विशेषता है । उनका आधुनिक गीतिकाव्य "मातृगीतिकाञ्जलिः" साम्प्रतिक संस्कृत साहित्य में एक अभिनव लोकप्रिय कृति है । इसके अतिरिक्‍त उनकी संस्कृत कृतियों में पुष्पाञ्जलि-विचित्रा, सारस्वतायनम्, सौन्दर्य-सन्दर्शनम्, सावित्रीनाटकम्, जीवनालेख्यम्, मौन-व्यञ्जना आदि उल्लेखनीय हैं । ।
'''प्रमुख साहित्यिक एवं सांस्कृतिक अनुष्ठानों द्वारा सम्मान प्राप्त :'''
कवि-परम्परा से मौलिक सर्जनात्मक-प्रतिभासम्पन्न डॉ. मेहेर की भाषा-साहित्य एवं सङ्गीत कला में विशष अभिरुचि ।
कई उपलक्ष्यों में स्वरचित संस्कृत-गीतियाँ एवं कोशली गीत एकल तथा वृन्दगान के रूप में परिवेषित ।
 
हाथरस उत्तरप्रदेश की लोकप्रिय ‘संगीत’ पत्रिका में अपनी मौलिक नवीन छन्दोबद्ध संस्कृत गीतियों सहित स्वरचित स्वरलिपियाँ प्रकाशित । डॉ. मेहेर-कृत संस्कृत-गीत "नववर्ष-गीतिका" की प्रसिद्ध संगीतकार पण्डित एच्. हरेन्द्र जोशी-रचित स्वरलिपियाँ भी वहाँ प्रकाशित । उनकी “नववर्ष-गीतिका” की आडियो कैसेट् एवं वीडियो कैसेट् मध्यप्रदेश की रतलाम एवं जावरा आदि नगरियों में स्थानीय टी.वी. चैनलों पर प्रसारित ।
'''प्रमुख साहित्यिक एवं सांस्कृतिक अनुष्ठानों द्वारा सम्मान प्राप्त :'''
* गंगाधर सम्मान (२००२),
* गंगाधर सारस्वत सम्मान (२००२),
* १९८१ से ओड़िशा शिक्षा सेवा (ओ. ई. एस्.) में संस्कृत अध्यापक के रूप में डॉ. मेहेर कार्यरत हैं । सरकारी पञ्चायत महाविद्यालय बरगड़ एवं फकीरमोहन महाविद्यालय बालेश्‍वर में अध्यापना के उपरान्त सम्प्रति सरकारी स्वयंशासित महाविद्यालय, भवानीपाटना, ओड़िशा में संस्कृत विभाग के वरिष्ठ रीडर एवं विभागाध्यक्ष हैं ।
ई-मेल् : meher.hk@gmail.com / ब्लॉग् : http://hkmeher.blogspot.com
 
'''प्रकाशित कृतियाँ :''' ([[संपादित करें]])
 
____________________________________________________________________________________
 
 
* http://marketime.blogspot.com/2008/07/among-modern-sanskrit-lyricists.html (Modern Sanskrit Lyricist).
* http://themusepaper.blogspot.com/2008/07/poet-gangdhara-is-influenced-by.html (Gangadhar Meher).
* http://selforum.blogspot.com/2008/11/prime-sentiment-of-life-of-mundane.html (Poet Jayadeva).
* http://themusepaper.blogspot.com/2007/10/poet-sriharsa-is-deep-delved.html (Poet Sriharsha).
* http://museindia.com/viewarticle.asp?myr=2008&issid=21&id=1258 (English Tapasvini : Muse India, e-journal).
http://www.srijangatha.com/prasangvash2_13jul2k10
* Sanskrit Literature / Blogroll / Dr. Harekrishna Meher's Blog :
 
जीवन-गीतिका :
 
* (विश्व-नीड़ में मानवता का सौरभ) : http://vipvak.blogspot.com/2009/08/blog-post.html
 
* (कवितायें) http://poemhunter.com/harekrishna-meher/poems/
* (काव्यालय - गंगाधर मेहेर): http://www.manaskriti.com/kaavyaalaya/amritmay.stm
 
* (आखर कलश - तीन कवितायें) : http://aakharkalash.blogspot.com/2010/05/blog-post_05.html
 
'''योगसूत्र :''' ([[संपादित करें]])
* http://www.museindia.com/focuscontent.asp?issid=34&id=2292 (तपस्विनी काव्य -अंग्रेजी अनुवाद- लेख)
 
* http://www.museindia.com/newsview.asp?id=9 (गंगाधर मेहेर सम्मान-२०१०)
 
* http://www.museindia.com/newsview.asp?id=7 (कोशली मेघदूत पुस्तक)
 
- - - -
35

सम्पादन