"रामभद्राचार्य" के अवतरणों में अंतर

381 बैट्स् जोड़े गए ,  9 वर्ष पहले
छो
छो (r2.7.1) (robot Adding: de:Jagadguru Rāmabhadrācārya)
१९७६ में गिरिधर मिश्र ने [[स्वामी करपात्री|करपात्री महाराज]] को रामचरितमानस पर कथा सुनाई। स्वामी करपात्री ने उन्हें विवाह न करने, वीरव्रत धारण करके आजीवन [[ब्रह्मचारी]] रहने और किसी [[वैष्णव]] सम्प्रदाय में दीक्षा लेने का उपदेश दिया।<ref name="dinkarlaterlife">दिनकर २००८, पृष्ठ २८–३१।</ref> गिरिधर मिश्र ने नवम्बर १९, १९८३ के [[कार्तिक]] पूर्णिमा के दिन रामानन्द सम्प्रदाय में श्री श्री १००८ श्री रामचरणदास महाराज फलाहारी से विरक्त दीक्षा ली। अब गिरिधर मिश्र '''रामभद्रदास''' नाम से आख्यात हुए।<ref name="dinkarlaterlife"/>
 
[[Image:JagadguruRamabhadracharya010.jpg|thumb|left|चित्रकूट में मन्दाकिनी नदी के तट पर षाण्मासिक पयोव्रत के दौरान सुखासन और ध्यानमुद्रा में ध्यानस्थ जगद्गुरु रामभद्राचार्य]]
===पयोव्रत===
 
147

सम्पादन