"बदलते रिश्ते (1978 फ़िल्म)" के अवतरणों में अंतर

छो
clean up, typos fixed: रंत → रन्त using AWB
छो (clean up, typos fixed: रंत → रन्त using AWB)
सावित्री ([[रीना रॉय]]) संगीत शिक्षिका है जो बच्चों को संगीत सिखाती है| वह अपनी माँ ([[दीना पाठक]]) व रंगाई ठेकेदार भाई चंदर ([[असरानी]]) के साथ रहती है| एक दिन वह मनोहर धनी ([[ऋषि कपूर]]) से मिल उससे प्रेम करती है| इधर सागर सिंह ([[जितेन्द्र]]) नामक व्यापारी अमरीका से लौटता है| उसकी बहन सावित्री से संगीत सीखती, जिसका गाना सुन उसपर मोहित होता है|
 
एक दिन चंदर का मित्र अपने ज्योतिषी पिता प्रोफ़ेसर ([[ए के हंगल]]) के साथ आता है| प्रोफ़ेसर चंदर के आनेवाले अच्छे समय, उसकी माँ के कठिन समय के बारे में सूचित करता है| परंतुपरन्तु सावित्री के विषय में कुछ बताने से टालते है| चंदर से पुरानी मित्रता के कारण सागर उसे मदद करने के साथ उसकी बहन से विवाह करना चाहता है| इस बीच सागर सावित्री को एक चिट्ठी भेजता है जिसे पढ़ वह भभक उठती है| सागर की भाभी उससे विवाह करने की सागर का विचार बताती है| सागर का परिवार सावित्री के घर विवाह का प्रस्ताव लिते जाती है जिसे सावित्री की माँ स्वीकार करती है| सावित्री इस विवाह प्रस्ताव को नकारती है| इस बीच चंदर एक दुर्घटना में घायल हुए अस्पताल में भर्ती होता है| अपने बीमार माँ की बात मान सावित्री सागर से विवाह करती है जिसमे उसकी सहेली प्रोफ़ेसर की बात उसे बताती है|
 
सावित्री सागर को प्रोफ़ेसर की बात बताने पर भी वह उससे विवाह करता है| इधर सावित्री सारी बात मनोहर को पत्र में बताती है| कुछ दिन बात मनोहर चंदर के विवाह में सावित्री से मिल प्रोफ़ेसर के बात की आड़ में सागर को मारने की बात बताता है जिसपर वह मनोहर से द्वेष करने लगती है| कुछ दिनों में मनोहर सागर से मित्रता किए घर आने पर सावित्री उसे निकाल देती है| सावित्री सागर को मनोहर के विचार बताने पर वह मनोहर से लड़ पड़ता है| मनोहर तमंचे से सागर पर गोली चलाने पर सावित्री उसे बचाए मनोहर को वहां से जाने कहती है| बाद में चंदर अपनी पत्नी को समझाता है के सागर के प्रति सावित्री के प्रेम के लिए मनोहर ने अपने रिश्ते बदले|
[[श्रेणी:1978 में बनी हिन्दी फ़िल्म]]
[[श्रेणी:भारतीय फिल्म]]
[[श्रेणी:हिंदी चलचित्र]]
[[श्रेणी:हिन्दी फ़िल्म]]