"भूखी पीढ़ी" के अवतरणों में अंतर

121 बैट्स् जोड़े गए ,  9 वर्ष पहले
भुखी पीढी आंदोलनकारियों के सृजनकर्मों का कोइ कापिराइट नहीं होता है। वे लोग कहते हैं की यह अवधारणा उपनिवेशवादी है। [[रामायण]], [[महाभारत]], [[गीता]], [[रामचरितमानस]] आदि के तरह ही उनका सृजनकर्म सभी के लिये है, बाजारु नहीं हैं उनके लेखन।
== इन्हे भी देखें ==
[[Image:HGbangla.jpg|thumb|right|200px|भूखी पीढीके बुलेटिन संख्या ९९]]
* [[मलय रायचौधुरी]]
* [[सुबिमल बसाक]]
432

सम्पादन