"अतिसूक्ष्म तरंग" के अवतरणों में अंतर

छो
Tag {{unreferenced}}
छो (Tag {{unreferenced}})
{{unreferenced}}
[[विद्युत चुम्बकीय तरंग|विद्युत चुम्बकीय तरंगें]] जिनकी [[तरंग दैर्घ्य]] एक मीटर से छोट्ट तथा एक मिलिमीटर से बङी होती है, या [[आवृत्ति ]] 300 मैगा हर्ट्ज़ से 300 गीगा हर्ट्ज़ के बीच होती है, उन्हें [[अतिसूक्ष्म तरंग]] कहते हैं ।
 
[[विद्युत चुम्बकीय तरंग|विद्युत चुम्बकीय तरंगें]] जिनकी [[तरंग दैर्घ्य]] एक मीटर से छोट्ट तथा एक मिलिमीटर से बङी होती है, या [[आवृत्ति ]] 300 मैगा हर्ट्ज़ से 300 गीगा हर्ट्ज़ के बीच होती है, उन्हें [['''अतिसूक्ष्म तरंग]]''' कहते हैं ।
 
== इनके गुणधर्म ==
 
 
[[प्रकीर्णन]], [[ध्रुवीकरण]], [[विवर्तन]], [[अपवर्तन]], [[विलयन]], [[समावेशन]] आदि, जो कि प्यायः प्रत्यक्ष प्रकाश के गुण होते हैं, इनमें भी मिलते हैं ।
 
 
== फैलाव (रेंज) ==
 
'''अतिसूक्ष्म तरंग''' में निम्न आती हैं :-
 
 
[[Image:Atmospheric microwave transmittance at mauna kea(simulated).gif|thumb|right|300px|Plot of the zenith atmospheric transmission on the summit of [[Mauna Kea]] throughout the entire gigahertz range of the electromagnetic spectrum at a precipitable water vapor level of 0.001 mm. (simulated)]]
* [[अत्यन्त उच्चावृत्ति (UHF)]] (UHF) (0.3–3 GHz),
* [[परम उच्चावृत्ति (SHF)]] (SHF) (3–30 GHz), and
* [[अत्यधिक उच्चावृत्ति (EHF)]] (EHF) (30–300 GHz) संकेत
<br />
300&nbsp;GHz, के ऊपर विद्युत चुम्बकीय विकिरण का विलयन, पृथ्वी के वातावरण द्वारा इतना अधिक होता है कि, यह प्रभावी रूप से एकदम ठोस जैसा हो जाता है, व उन्हें निकलने नहीं देता , जब तक कि वापस पारदर्शी नहीं हो जाता, [[अधोरक्त]] या [[प्रत्यक्ष वर्णक्रम]] के लिए ।
 
 
== [[आवृत्ति रेंज]] ==
{{विद्युतचुंबकीय वर्णक्रम}}
 
[[श्रेणी:रेडियो|तरंग, अतिसूक्ष्म]]
[[श्रेणी:विज्ञान|तरंग, अतिसूक्ष्म]]
[[श्रेणी:विद्युत चुम्बकीय वर्णक्रम|तरंग, अतिसूक्ष्म]]
1,94,421

सम्पादन