"जगजीत सिंह" के अवतरणों में अंतर

197 बैट्स् जोड़े गए ,  10 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
[[चित्र:JagjitSingh.jpg|thumb|right|250px]]
'''जगजीत सिंह''' ([[8 फरवरी]] [[1941]] - 10 अक्टूबर, 2011) एक बहुत लोकप्रिय [[गज़ल]] गायक थे। उनका संगीत काफ़ी मधुर है, और उनकी आवाज़ संगीत के साथ खूबसूरती से विलय होती है। खालिस [[उर्दू]] जानने वालों की मिल्कियत समझी जाने वाली, नवाबों-रक्कासाओं की दुनिया में झनकती और शायरों की महफ़िलों में वाह-वाह की दाद पर इतराती ग़ज़लों को आम आदमी तक पहुंचाने का श्रेय अगर किसी को पहले पहल दिया जाना हो तो जगजीत सिंह का ही नाम ज़ुबां पर आता है। उनकी ग़ज़लों ने न सिर्फ़ उर्दू के कम जानकारों के बीच शेरो-शायरी की समझ में इज़ाफ़ा किया बल्कि ग़ालिब, मीर, मजाज़, जोश और फ़िराक़ जैसे शायरों से भी उनका परिचय कराया। '''जगजीत सिंह''' को सन [[२००३]] में [[भारत सरकार]] द्वारा [[कला]] के क्षेत्र में [[पद्म भूषण]] से सम्मानित किया गया।
 
== आरंभिक दिन ==
== निधन ==
गजल के बादशाह कहे जानेवाले जगजीत सिंह का १० अक्टूबर २०११ की सुबह 8 बजे मुंबई में देहांत हो गया. उन्हें ब्रेन हैमरेज होने के कारण 23 सितम्बर को मुंबई के लीलावती अस्पताल में भर्ती करवाया गया था. ब्रेन हैमरेज होने के बाद जगजीत सिंह की सर्जरी की गई, जिसके बाद से ही उनकी हालत गंभीर बनी हुई थी. वे तबसे आईसीयू वॉर्ड में ही भर्ती थे। जिस दिन उन्हें ब्रेन हैमरेज हुआ, उस दिन वे सुप्रसिद्ध गजल गायक गुलाम अली के साथ एक शो की तैयारी कर रहे थे।
 
 
== सम्मान और पुरस्कार ==
''' जगजीत सिंह ''' को सन [[२००३]] में [[भारत सरकार]] द्वारा [[कला]] के क्षेत्र में [[पद्म भूषण]] से सम्मानित किया था। ये [[महाराष्ट्र]] राज्य सेगया। हैं।
 
{{२००३ पद्म भूषण}}
 
== ऍलबम ==
=== ग़ज़ल ऍलबम ===
* Saanwara
 
== सम्मान और पुरस्कार ==
''' जगजीत सिंह ''' को सन [[२००३]] में [[भारत सरकार]] द्वारा [[कला]] के क्षेत्र में [[पद्म भूषण]] से सम्मानित किया था। ये [[महाराष्ट्र]] राज्य से हैं।
{{२००३ पद्म भूषण}}
 
== बाहरी कडियाँ ==
5,585

सम्पादन