"वरंगल" के अवतरणों में अंतर

1,205 बैट्स् जोड़े गए ,  9 वर्ष पहले
 
==उत्पत्ति==
वारंगल या वारंकल–तेलगु शब्द ओरुकल या ओरुगल्सु का अपभ्रंश है, जिसका अर्थ है 'एक शिला'। इससे तात्पर्य उस विशाल अकेली चट्टान से है जिस पर ककातीय नरेशों के समय का बनवाया हुआ दुर्ग अवस्थित है। कुछ अभिलेखों से ज्ञात होता है कि संस्कृत में इस स्थान के ये नाम तथा पर्याय भी प्रचलित थे–एकोपल, एकशिला, एकोपलपुरी या एकोपलपुरम्। रघुनाथ भास्कर के कोश में एकशिलानगर, एकशालिगर, एकशिलापाटन–ये नाम भी मिलते हैं। टालमी द्वारा उल्लिखित कोरुनकुला वारंगल ही जान पड़ता है।
 
==इतिहास==
 
{{आधार}}
1,190

सम्पादन