"महमूद" के अवतरणों में अंतर

1,445 बैट्स् नीकाले गए ,  9 वर्ष पहले
और सफ़ाई
छो (HotCat द्वारा श्रेणी:अभिनेता हटाई)
(और सफ़ाई)
'''मेहमूदमहमूद अली''' ([[१९३२]]-[[जुलाई २३]], [[२००४]]) (आम तौर पर '''मेहमूदमहमूद''') एक [[भारत|भारतीय]] अभिनेता और फ़िल्म निर्देशक थे ।थे। [[हिन्दी]] फ़िल्मों में उनके हास्य कलाकार के तौर पर किये गये अदभुत अभिनय के लिये वे जाने और सराहे गये है ।है। तीन दशक लम्बे चले उनके करीयर में उन्होने ३००300 से ज़्यादा हिन्दी फ़िल्मों में काम कियाकिया। महमूद अभिनेता और नृत्य कलाकार मुम्ताज़ अली के नौ बच्चों में से एक थे। जुलाई २३, २००४ को [[अमरीका]] में [[पेनसिल्वेनिया]] शहर में नींद में ही गुज़र गयेवे बरसों से ह्रदयरोग से पीडीत थे । पिछले बरसों में उनकी सेहत बहुत खराब रेहती थी।
 
मेहमूद अभिनेता और न्रुत्य कलाकार मुम्ताज़ अली के नौ बच्चों में से एक थे । अभिनेता के तौर पर काम से पेहले वे छोटे मोटे काम करते थे, वाहन चलाने का काम भी करते थे। उस ज़माने में [[मीना कुमारी]] को [[टेबल टेनिस]] सिखाने के लिये उन्हे नौकरी पर रक्खा गया था । बादमें उन्होने मीना कुमारी की बहन मधु से शादी की । शादी करने और पिता बनने के बाद ज़्यादा पैसे कमाने के लिये उन्होने अभिनय करने का निश्चय किया । शुरुआत में उन्होने "''[[दो बिघा ज़मीन]]''" और "''[[प्यासा]]''" जैसी फ़िल्मों में छोटे मोटे पात्र निभायें । बादमें उन्हें मुख्य अभिनेता का काम भी मिला पर उनके हास्य पात्रों के अभिनय के लिये उन्हे खूब सराहा गया ।
 
उनके पुत्र [[लक्की अली]] एक लोकप्रिय गायक है जिन्होने फ़िल्मों में भी काम किया है ।
 
जुलाई २३, २००४ को [[अमरीका]] में [[पेनसिल्वेनिया]] शहर में नींद में ही गुज़र गये । वे बरसों से ह्रदयरोग से पीडीत थे । पिछले बरसों में उनकी सेहत बहुत खराब रेहती थी ।
 
== कैरियर ==
मेहमूद अभिनेता और न्रुत्य कलाकार मुम्ताज़ अली के नौ बच्चों में से एक थे । अभिनेता के तौर पर काम से पेहले वे छोटे मोटे काम करते थे, वाहन चलाने का काम भी करते थे। उस ज़माने में [[मीना कुमारी]] को [[टेबल टेनिस]] सिखाने के लिये उन्हे नौकरी पर रक्खा गया था ।था। बादमें उन्होने मीना कुमारी की बहन मधु से शादी की । शादी करने और पिता बनने के बाद ज़्यादा पैसे कमाने के लिये उन्होने अभिनय करने का निश्चय किया । शुरुआत में उन्होने "''[[दो बिघा ज़मीन]]''" और "''[[प्यासा]]''" जैसी फ़िल्मों में छोटे मोटे पात्र निभायेंनिभायें। महमूद बादमेंको उन्हेंफिल्मों मुख्यमें अभिनेतापहला काबड़ा कामब्रेक भीफिल्म परवरिश (1958) में मिला परथा। उनकेइसमें हास्यउन्होंने पात्रोंफिल्म के अभिनयनायक राजकपूर के लियेभाई उन्हेका खूबकिरदार सराहानिभाया गयाथा। बाद में उन्होंने फिल्म गुमनाम में एक दक्षिण भारतीय रसोइए का कालजई किरदार अदा किया। उसके बाद उन्होंने प्यार किए जा, प्यार ही प्यार, ससुराल, लव इन टोक्यो और जिद्दी जैसी हिट फिल्में दीं। बाद में उन्होंने कुछ फिल्मों में मुख्य भूमिका भी निभाई लेकिन दर्शकों ने उन्हें एक कॉमेडियन के तौर पर ज्यादा पसंद किया।
अभिनय को अपना कॅरियर बनाने से पहले महमूद ने ड्राइवर के अलावा और भी कई काम किए लेकिन उन्होंने अभिनय के क्षेत्र में भी काम जारी रखा। इस दौरान उन्होंने दो बीघा जमीन और प्यासा फिल्म में छोटी भूमिकाएं कीं। बाद में उन्होंने कुछ फिल्मों में मुख्य भूमिका भी निभाई लेकिन दर्शकों ने उन्हें एक कॉमेडियन के तौर पर ज्यादा पसंद किया।
 
महमूद को फिल्मों में पहला बड़ा ब्रेक फिल्म परवरिश (1958) में मिला था। इसमें उन्होंने फिल्म के नायक राजकपूर के भाई का किरदार निभाया था।
 
बाद में उन्होंने फिल्म गुमनाम में एक दक्षिण भारतीय रसोइए का कालजई किरदार अदा किया। उसके बाद उन्होंने प्यार किए जा, प्यार ही प्यार, ससुराल, लव इन टोक्यो और जिद्दी जैसी हिट फिल्में दीं।
 
अपनी अनेक फिल्मों में वह नायक के किरदार पर भारी नजर आए।
 
फिल्मों में अपनी बहुविध कॉमेडी से दर्शकों को दीवाना बनाने के बाद महमूद ने अपनीबाद फिल्ममें निर्माणअपना कम्पनीस्वयं परका ध्यानप्रोडक्शन देनेहाउस का फैसला किया।खोला। उनकी पहली होम प्रोडक्शन फिल्म छोटे नवाब थी। बाद में उन्होंने बतौर निर्देशक सस्पेंस-कॉमेडी फिल्म भूत बंगला बनाई। उसके बाद उनकी फिल्म पड़ोसन 60 के दशक की जबर्दस्त हिट साबित हुई। पड़ोसन को हिंदी सिने जगत की श्रेष्ठ हास्य फिल्मों में गिना जाता है। अपनी अनेक फिल्मों में वह नायक के किरदार पर भारी नजर आए।
 
अभिनेता, निर्देशक, कथाकार और निर्माता के रूप में काम करने वाले महमूद ने बॉलीवुड के मौजूदा किंग शाहरुख खान को लेकर वर्ष 1996 में अपनी आखिरी फिल्म दुश्मन दुनिया का बनाई लेकिन वह शायद दर्शकों के बदले जायके को समझ नहीं सके और फिल्म बॉक्स ऑफिस पर नाकाम रही।
 
==प्रमुख फिल्में==
24,319

सम्पादन