"हिन्दुस्तान रिपब्लिकन ऐसोसिएशन" के अवतरणों में अंतर

छो
(File:A rare photo of Har Dayal.jpg विकीकामन्स से अप्लोड की)
==दल का पुनर्गठन==
 
काकोरी काण्ड से फरार बिस्मिल के सच्चे उत्तराधिकारी पण्दित [[चन्द्रशेखर आजाद]] ने युवा क्रान्तिकारी [[भगत सिंह]] के साथ मिलकर दिल्ली के फीरोजशाह कोटला मैदान में एक गुप्त मीटिंग करके इस दल को पुनर्जीवित किया और संगठन को एक नया नाम दिया [[हिन्दुस्तान सोशलिस्ट रिपब्लिकन एसोसिएशन]]। इस प्रकार सन् १९२४ से लेकर १९३१ तक लगभग आठ वर्ष इस संगठन का पूरे [[भारतवर्ष]] में दवदवा रहा जिसके परिणाम स्वरूप न केवल ब्रिटिश सरकार को अपितु अंग्रेजों की साँठ-गाँठ से १८८५ में स्थापित छियालिसउस समय की ४६ साल पुरानी [[कांग्रेस]] पार्टी को भी अपनी मूलभूत नीतियों में परिवर्तन करना पडा।पड़ा।
 
 
 
==सन्दर्भ==
6,802

सम्पादन