"वरदराज" के अवतरणों में अंतर

116 बैट्स् जोड़े गए ,  9 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
'''वरदराज''' [[संस्कृत]] [[व्याकरण]] के महापण्डित थे। वे महापण्डित [[भट्टोजि दीक्षित]] के शिष्य थे। भट्टोजि दीक्षित की [[सिद्धान्तकौमुदी]] पर आधारित उन्होने तीन ग्रन्थ रचे : [[मध्यसिद्धान्तकौमुदी]] , [[लघुसिद्धान्तकौमुदी]] तथा '''[[सारकौमुदी]]'''
 
==इन्हें भी देखें==
*[[संस्कृत व्याकरण का इतिहास]]
 
==बाहरी कड़ियाँ==