मुख्य मेनू खोलें

बदलाव

378 बैट्स् जोड़े गए ,  7 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
'''अवधारणा''' या '''संकल्पना''' ([[अंग्रेजी]]: कॅान्सेप्ट ''concept'' या नोशन ''notion'') [[भाषा दर्शन]] का शब्द है जो [[संज्ञात्मक विज्ञान|संज्ञात्मक विज्ञानों]] (cognitive science), [[पराभौतिकी|तत्त्वमीमांसा]] (metaphysics) एवं मस्तिष्क के [[दर्शन]] से सम्बन्धित है। इसे 'अर्थ' की संज्ञात्मक ईकाई (cognitive unit of meaning); एक अमूर्त विचार या मानसिक प्रतीक के तौर पर समझा जाता है। अवधारणा के अंतर्गत [[यथार्थ]] की वस्तुओं तथा परिघटनाओं का संवेदनात्मक सामान्यीकृत [[बिंब]], जो वस्तुओं तथा परिघटनाओं की ज्ञानेंद्रियों पर प्रत्यक्ष संक्रिया के बिना [[चेतना]] में बना रहता है तथा पुनर्सृजित होता है। यद्यपि अवधारणा व्यष्टिगत संवेदनात्मक परावर्तन का एक रूप है फिर भी मनुष्य में सामाजिक रूप से निर्मित मूल्यों से उसका अविच्छेद्य संबंध रहता है।
 
== बाहरी कड़ियाँ ==